चंदा कोचर और उनके परिवार की 78 करोड़ की संपत्ति जब्त

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय ने निजी क्षेत्र के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक चंदा कोचर और उनके परिवार के खिलाफ शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए महाराष्ट्र और तमिलनाडु स्थित फ्लैट, भूमि, पहले से सीज नकदी, संयंत्र और मशीनरी को जब्त किया है जिसका मूल्य 78 करोड़ रुपए बताया जा रहा है।

ईडी चंदा कोचर के खिलाफ यह कार्रवाई 2012 में आईसीआईसीआई बैंक से मिले 3,250 करोड़ रुपए के ऋण के सिलसिले में कर रहा है। बैंक से कर्ज लेने वाली कंपनी विडियोकॉन इंडस्ट्रीज द्वारा कोचर के पति की कंपनी में निवेश को लेकर गड़बड़ी के आरोपों के बाद उन्होंने अक्टूबर 2018 में इस्तीफा दे दिया था।

चंदा कोचर और उनके परिवार के खिलाफ यह कार्रवाई धोखाधड़ी मामले में की गई है। ईडी का आरोप है कि कोचर ने आईसीआईसीआई बैंक के प्रमुख रहते हुए गैर कानूनी तरीके से अपने पति की कंपनी न्यूपावर रिन्यूएबल्स को करोड़ों रुपए दिए।

ईडी ने कहा कि चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और उनके द्वारा नियंत्रित कंपनी के विरूद्ध मनी लांड्रिग कानून के तहत कार्रवाई की गई है। इसके तहत फ्लैट, भूमि, संयंत्र और तमिलनाडु में स्थिति पवनचक्की परियोजना के साथ ही पूर्व में सीज किए गए नकदी आदि को जब्त किया गया है।