कोटा में सहायक उप निरीक्षक 60 हजार रूपए की रिश्वत लेते अरेस्ट

कोटा। राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने कोटा जिले केे कनवास थाने के सहायक पुलिस उपनिरीक्षक रामरतन खटीक को आज साठ हजार रुपए की रिश्वत के मामले में गिरफ्तार किया।

ब्यूरो के सूत्रों ने बताया कि परिवादी खेड़ा रसूलपुर गांव निवासी चंद्र प्रकाश सैनी ने 23 फरवरी को ब्यूरो की कोटा चौकी में लिखित में शिकायत दर्ज करवाई थी कि उसके पिता के खिलाफ कनवास थाने में दर्ज एक धोखाधड़ी के मामले की जांच कर रहा सहायक पुलिस उपनिरीक्षक रामरतन खटीक केस को रफा-दफा करने और उसके पिता को गिरफ्तार करने की धमकी देकर ढाई लाख रुपए की रिश्वत की मांग कर रहा था लेकिन बाद में डेढ़ लाख रुपए में तय हुआ।

ब्यूरो द्वारा शिकायत का सत्यापन करवाने के बाद आज आरोपी सहायक पुलिस उपनिरीक्षक ने फरियादी को कनवास थाने में 10 हजार रुपए नकद और 50 हजार रुपए का चेक लेकर बुलाया था। फरियादी चंद्र प्रकाश सैनी ने थाने पहुंचकर सहायक पुलिस उपनिरीक्षक रामरतन 10 हजार रुपए नकद रुपए और 50 हजार रुपए का चेक सौंप दिया जिसे उसने जेब में रख लिया।

उसका इशारा मिलते ही ब्यूरो की टीम ने छापा मारकर पुलिसकर्मी को गिरफ्तार कर उसकी जेब से 10 हजार रुपए नकद और 50 हजार रुपए का चेक बरामद कर लिया। उसे कोटा लाकर ब्यूरो के कार्यालय में पूछताछ की जा रही है।