तीन नौकाएं पलटी, कम से कम 19 मछुआरों के डूबने की आशंका

At least 19 fishermen feared drowned over three trawlers capsized in the Bay of Bengal

काकद्वीप। बंगाल की खाड़ी में सोमवार रात तीन मछुआरी नौकाओं के पलटने से कम से कम 19 मछुआरों के डूबने की आशंका है।

मछुअारा कल्याण संघ के अध्यक्ष बिनस मैती ने मंगलवार को बताया कि इन लापता 19 मछुअारों की तलाश में भारतीय तट रक्षक बल और पश्चिम बंगाल की तटीय पुलिस को लगाया गया है। यह घटना कल आधी रात की है।

उन्होंने बताया कि सोमवार सुबह मौसम साफ होने पर हजारों नौकाआें के साथ मछुअारे समुद्र में उतरे थे लेकिन शाम को मौसम खराब होन पर अधिकांश मछुआरे अपनी नौकाओं के साथ लौट आए मगर तीन नौकाओं मोलेश्वर जायकृष्ण और शिवानी के साथ मछुआरे समुद्र में फंस गए और बाद में ये तीनाें नौकाएं डूब गई। मोलेश्वर छैमारी द्वीप के समीप और दो अन्य नौकाएं लुडियाल्दी द्वीप के पास डूबी।

मैती ने बताया कि मोलेश्वर पर सवार 11 में से पांच मछुआरों को बचा लिया गया वहीं जॉयकिशन पर सवार 16 में से छह को सुरक्षित निकाल लिया गया।

शिवानी नौका पर सवार सभी 17 लोग सुरक्षित निकाल लिए गए हैं। उन्होंने बताया कि विभिन्न नौकाओं से तीन अन्य मछुआरे भी नदी में गिरकर बह गए। मछली पकड़ने वाली लगभग 1000 नौकाएं अब भी गहरे समुद्र में हैं। मौसम में सुधार के बाद ही उन्हें तट पर लाया जा सकता है।

गौरतलब है कि गत 13 जून को बंगाल की खाड़ी में केंडेे द्वीप के पास मछली पकड़ने वाली एक नाव के डूबने से 10 मछुआरे लापता हो गए थे। बाद में उनमें से चार के शव बरामद कर लिए गये जबकि शेष लापता हैं।