औरंगाबाद में दो समुदायों में झडप, दो लोगों की मौत, 40 घायल

Aurangabad tense as communal clashes leave 2 dead, 40 injured, internet suspended

औरंगाबाद। महाराष्ट्र में औरंगाबाद के मोकरंजा क्षेत्र में दो समुदायों के बीच मामूली बहस के बाद हुई झड़प में दो लोगों की मौत हो गई आैर 40 अन्य घायल हो गए।

नगर निगम द्वारा पानी का अवैध कनेक्शन काट दिए जाने के बाद शुक्रवार को दो समुदायों में हुई मामूली बहस ने देखते ही देखते गंभीर रूप अख्तियार कर लिया। दोनों गुटों के बीच झड़पों में दो लोगाें की मौत हो गई और 40 अन्य घायल हो गए। मृतकों की पहचान जगनलाल छगनलाल बैंसाइल (62) और अब्दुल हरीश अब्दुल हारून कादरी (17) के रूप में की गई है। घायलों में 10 पुलिसकर्मी भी शामिल हैं।

जगनलाल की उसकी दुकान में लगाई गई अाग में झुलसने से मौत हो गई वहीं अब्दुल झड़प के दौरान घायल हो गया और इलाज के दौरान शनिवार सुबह अस्पताल में उसकी मौत हो गई। झड़प के दौरान 25 से अधिक दुकानों और सड़क पर खड़े कई वाहनाें को आग के हवाले कर दिया गया।

अौरंगाबाद के पुलिस आयुक्त मिलिंद भारंबे ने एहतियातन अगले 48 घंटों तक मोबाइल एवं इंटरनेट सेवाएं स्थगित करने के आदेश दिए हैं। झड़प के दौरान दोनों समूहों के सदस्यों ने एक-दूसरे पर पथराव किया जिसमें पुलिसकर्मियों समेत कई स्थानीय लोग घायल हो गए। दोनों गुटों ने जानलेवा हथियारों का भी इस्तेमाल किया।

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने झड़प के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि दोषियाें को बख्शा नहीं जाएगा।

एक कार्यक्रम के सिलसिले में पुणे गए मुख्यमंत्री ने कहा कि औरंगाबाद में स्थिति अब नियंत्रण में है और हिंसा की ताजा घटना की कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने शहर के लोगों से शांति बनाये रखने के अपील करते हुए कहा कि वे असामाजिक तत्वों द्वारा फैलाए गए किसी भी अफवाह का शिकार नहीं हों।