आस्ट्रेलिया की भारत से डे-नाइट टेस्ट खेलने की अपील

Australia's appeal to India to play Day-Night Test
Australia’s appeal to India to play Day-Night Test

एडिलेड । क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) ने एडिलेड में खेले जाने वाले टेस्ट को स्थायी तौर पर दिन-रात्रि प्रारूप में खेलने की इच्छा के साथ भारत से अपील की है कि अगली बार आस्ट्रेलिया दौरे में वह यहां खेले जाने वाले मैच को गुलाबी गेंद से खेलने पर अपनी सहमति दे दे।

आस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख केविन राबर्ट्स ने शुक्रवार को अपील की कि भारतीय बोर्ड इस बात पर पुन: विचार करे कि जब वह वर्ष 2020-21 में अगली बार यहां दौरे पर आयेगी तो एडिलेड ओवल में खेले जाने वाले टेस्ट को गुलाबी गेंद से दिन-रात्रि प्रारूप में खेले। भारत और आस्ट्रेलिया की टीमें मौजूदा चार टेस्टों की सीरीज़ का पहला मैच इसी मैदान पर खेल रही हैं लेकिन टेस्ट का पहला दिन दर्शक संख्या के लिहाज़ से निराशाजनक रहा जहां स्टेडियम में मैच देखने कम लोग मौजूद थे।

क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने मौजूदा सीरीज़ के पहले टेस्ट को दिन-रात्रि कराने का प्रस्ताव काफी पहले ही भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) के सामने रखा था जिससे उसने इंकार कर दिया था। दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम भारत ने अब तक दिन-रात्रि प्रारूप में टेस्ट नहीं खेला है और वह कोई नया प्रयोग कर बहुप्रतीक्षित सीरीज़ में खुद को जोखिम में नहीं डालना चाहती थी जबकि आस्ट्रेलियाई टीम का गुलाबी गेंद से रिकार्ड काफी अच्छा रहा है।

पिछले तीन वर्षाें में एडिलेड में दुधिया रौशनी में होने वाले मैचों में पहले दिन दर्शक संख्या 47,000, 32,000 और 55,000 दर्ज की गयी है लेकिन गुरूवार को मैच के पहले दिन यह सबसे कम 24,000 रही थी जिसने सीए की चिंता बढ़ा दी है। सीए के मुख्य कार्यकारी केविन रॉबर्ट्स ने कहा,“ हमें लगता है कि दूसरे राज्य से करीब 15000 दर्शक और आ सकते थे यदि मैच गुलाबी गेंद से होता लेकिन दिन में होने के कारण हमारे वे प्रशंसक यहां नहीं पहुंचे।”

उन्होंने कहा,“ हमें इस बात से फर्क पड़ता है क्योंकि यह दर्शकों की बड़ी संख्या है और उनकी सोच हमारे लिये मायने रखती है। पिछले वर्षाें में यहां काफी बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे और हम भविष्य में भी ऐसा ही चाहते हैं। मुझे यकीन है कि हम 2020-21 में भारत के अगले आस्ट्रेलिया दौरे तक मेहमान टीम को गुलाबी गेंद से खेलने के लिये मना लेंगे।”

राबर्ट्स ने कहा कि भारत एकमात्र ऐसा देश है जिसे अब तक दिन-रात्रि टेस्ट प्रारूप से समस्या है जबकि टेस्ट क्रिकेट को फिर से लोकप्रिय बनाने के लिये गुलाबी गेंद से खेल बहुत जरूरी है ताकि पांच दिनों के खेल में लोगों की रूची बरकरार रहे। आस्ट्रेलिया ने वर्ष 2015 के बाद से चार दिन-रात्रि टेस्ट खेले हैं जिनमें से तीन एडिलेड में खेले हैं और सभी जीते हैं। वह जनवरी में श्रीलंका से ब्रिसबेन में दुधिया रौशनी से टेस्ट खेलेगा।