भूमि पूजन की पूर्व संध्या पर रोशनी से नहाई अयोध्या

अयोध्या। आस्था के समंदर में गोते लगाती राम की नगरी अयोध्या भूमि पूजन की पूर्व संध्या पर मंगलवार शाम दीपों की रोशनी से जगमगा उठी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बुधवार पांच अगस्त को राम मंदिर का भूमि पूजन और शिलान्यास करेंगे। राम की पैड़ी समेत अयोध्या धाम के अलग अलग 50 स्थानों पर तीन लाख 51 हजार दीप प्रज्जवलित किए गए। अकेले राम की पैडी में डेढ लाख दीप जलाए गए। दीपों और रंगबिरंगी झालरों से अयोध्या की छटा अनुपम और आलोकिक प्रतीत हो रही है।

उधर, लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास को दीपों से सजाया और फुलझड़ी और अनार जलाकर भगवान राम के भव्य मंदिर की पूर्व संध्या पर दीपावली मनायी। पौराणिक नगरी चित्रकूट,वाराणसी, प्रयागराज समेत राज्य के विभिन्न शहरों में दीप जलाये गये जिससे दीपावली सा आभास हुआ। योगी ने प्रदेशवासियों से आज और कल दीपोत्सव मनाने की लोगों से अपील की है।

उधर, भूमि पूजन कार्यक्रम में आमंत्रित ज्यादातर मेहमान अयोध्या पहुंच चुके हैं। राष्ट्रीय स्वयं सेवक प्रमुख मोहन भागवत, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, नाथ संप्रदाय के उपाध्यक्ष बालक नाथ जी महाराज स्वामी अवधेशानंद, योग गुरू स्वामी बाबा रामदेव, चिंदानन्द मुनि, साध्वी ऋतंभरा, पुरुष परमानन्द महाराज, बालकानन्द महाराज, धन्तेय शांति मिश्र महाराज, फूल डोल बिहारी दास, स्वामी मित्रानन्द महाराज, राजेंद्र देवाचार्य राघवाचार्य, महामंडलेश्वर अखिलेश्वरानन्द महाराज, डॉ. श्यामदेव देवाचार्य, राम कमलदास वेदांती, जगद गुरु रामानन्दाचार्य रामधराचार्य, डॉ. रामेश्वरदास वैष्णव वनवासी संत दिगंबर गिरि बाल्मीकि संत सदानन्द, जत्थेदार इकबाल सिंह, डॉ. रामेश्वरानन्द हरि महाराज, बाबा लक्खा सिंह, अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी, महामंत्री हरि गिरी, महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव रवींद्रपुरी, निरंजनी अखाड़े के सचिव रवींद्र महाराज राम की नगरी पहुंच चुके हैं।

इस बीच अयोध्‍या की सीमा को सील कर द‍िया गया है। पूरी अयोध्या नगरी अभेद्य दुर्ग के रूप में तब्दील हो चुकी है। नगर में बाहरी लोगों को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। आज मध्य रात्रि से लखनऊ-गोरखपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी जिले की सीमा से बाहरी व माल वाहक वाहनों के लिए यातायात डायवर्ट कर दिया जाएगा।

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर भूमि पूजन को लेकर अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है। सुरक्षा बलाें की मौजूदगी में हनुमानगढ़ी मंदिर तथा श्रीराम जन्मभूमि परिसर को नगर निगम की टीम ने सैनेटाइज किया। हनुमानगढ़ी के सामने ब्लैक कैट कमांडो ने मोर्चा संभाला ल‍िया है।

मोदी कल सुबह 11:30 बजे अयोध्या पहुंचेगे और सबसे पहले हनुमानगढी जायेंगे और रामभक्त हनुमान से भूमि पूजन की इजाजत लेंगे। इसके बाद वह राम जन्मभूमि पर रामलला विराजमान के दर्शन करेंगे और बाद में भूमि पूजन और शिलान्यास करेंगे।

सदियों का इंतजार खत्म, आ गई राम मंदिर निर्माण की शुभ घड़ी