रामपुर जा रहा हूं, आजम में है हिम्मत तो कर लें अपने इरादे पूरे : अमर सिंह

azam khan threatened my daughters : Amar Singh
azam khan threatened my daughters : Amar Singh

लखनऊ। राज्यसभा सदस्य अमर सिंह और समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खां के बीच जारी जुबानी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है। सिंह ने अाजम को ललकारते हुए कहा कि वह 30 अगस्त को रामपुर जा रहे हैं और यदि उनमें हिम्मत है तो अपने इरादों को पूरा कर लें।

सिंह ने मंगलवार यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आजम खां ने जिस तरह मेरी बेटियों को तेजाब से नहलाने की धमकी दी है, मैं उन्हें चुनौती देता हूं। मैं 30 अगस्त को उनके जिले रामपुर जा रहा हूं। उनमें हिम्मत है तो वह मेरी हत्या कर दे और मेरी बेटियों को छोड़ दें। उन्हाेने कहा कि वह रामपुर जा रहे है। 12 बजे वहीं गेस्ट हाउस में रहेंगे।

राज्यसभा सदस्य ने कहा कि सपा के वरिष्ठ नेता खां ने एक टीवी चैनल को दिये गये साक्षात्कार में उनकी बेटियों के लिये धमकी भरे शब्द इस्तेमाल करते हुए कहा कि हमें काटा जाएगा और बेटियों को तेजाब से नहलाया जाएगा। उन्होंने समाजवादी पार्टी को नमाजवादी पार्टी करार देते हुए कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में तो देश के बंटवारे के वक्त भी कोई दंगा नहीं हुआ था। पिछली सपा सरकार के कार्यकाल में खां उस क्षेत्र के प्रभारी रहे तब वहां फसाद भी हुआ।

खां को सपा संरक्षक का राजनीतिक दत्तक पुत्र बताते हुए सिंह ने कहा कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और उनके बेटे एवं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की भी बेटियां हैं। कम से कम मुलायम को तो इसकी निन्दा करनी चाहिए थी।

उन्होंने कहा कि मैं अब्दुल हमीद जैसे मुसलमानों का समर्थक हूं वहीं महिलाओं की अस्मत से खेलने वाले मुसलमानों का घोर विरोधी हूं। आजम खां के प्रभार के दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश में तब हिंदू समाज की एक लड़की के साथ बहुत क्रूरता के साथ छेड़छाड़ की गई थी लेकिन दूसरे समाज के व्यक्ति को बचाया गया।

उन्होंने कहा कि जो लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र पर गुजरात दंगों के दाग लगाते हैं उन्हें जवाब देना चाहिए कि कैसे उनके समय में मुजफ्फरनगर में दंगे भड़के। जितने मुसलमान गुजरात दंगों में मारे गए।

राज्यसभा सांसद ने कहा कि मैं आज यहां किसी दल की तरफ से नहीं बल्कि अपनी नाबालिग बेटियों के बाप की हैसियत से यहां बैठा हूं। जब बच्चियां स्कूल पढऩे जाती हैं तो डर लगता है और हमारी पत्नी रोती है। उन्होंने कहा कि बुधवार की शाम छह बजे राज्यपाल से मिलकर इस मामले की शिकायत दर्ज कराएंगे।

उन्होने कहा कि आजम खां को झूठ बोलने में महारत हासिल है। अब कह रहे हैं कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा। जयाप्रदा के साथ रामपुर में जो हुआ आज भी वह बोल दे तो आजम खां जेल चले जाएंगे।

सिंह ने मुलायम सिंह यादव तथा अखिलेश यादव पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि लोहिया जी ने पार्टी में अपने परिवार के किसी सदस्य को स्थान नहीं दिया था लेकिन यहां तो पूरी की पूरी पार्टी ही एक परिवार से ही भरी पड़ी है। उन्होंने कहा कि भाजपा सिर्फ राम का नाम लेती है लेकिन लोहिया जी तो सियाराम का नाम लेते थे।

उन्होने कहा जब इन लोगों की सरकार होती है तो एक विशेष समुदाय के लोग लड़कियां छेड़ सकते हैं और उन्हें हर चीज की छूट होती है। तीन उपचुनाव जीत कर यह लोग इतरा रहे हैं। उन्होने कहा कि खिलजी तथा मोहम्मद गौरी की नस्ल के लोगों को हिंदुस्तान में रहने का कोई हक नहीं है। जो व्यक्ति भारत माता को डायन कहता हो वह भारत में कैसे रह सकता है।

उन्होंने कहा कि आजम खां वही व्यक्ति हैं जो कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानते। सिंह ने सपा के वरिष्ठ नेता एवं प्रदेश के पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव की उपेक्षा पर भी दुख जताया। उन्होंने कहा कि मैंने उनके लिए भाजपा में अच्छे पद पर बात की थी, लेकिन वो नहीं गए। अब मेरे उनसे कोई संबंध नहीं है।