बागपत : रोना बंद नहीं किया तो मां ने बेटे को हाईवे पर फेंका, मौत

बागपत। उत्तर प्रदेश के बागपत में एक अर्धविक्षिप्त महिला ने अपने मासूम बच्चे को महज इसलिए सड़क पर फेंक दिया क्योंकि वह रोना बंद नहीं कर रहा था। राजमार्ग पर फेंकने जाने के बाद डेढ़ साल का बच्चा एक कार की चपेट में आने से मौत का शिकार हो गया।

पुलिस के अनुसार आरोपित महिला अर्धविक्षिप्त बताई जा रही है। बागपत निवासी महिला सीता शुक्रवार काे सुबह अपने डेढ़ वर्षीय बेटे काला को गोद में लेकर दिल्ली यमुनोत्री हाईवे पर नगर के केनरा बैंक के पास खड़ी थी। उस समय बच्चा बहुत रो रहा था।

महिला के प्रयास के बावजूद बच्चा चुप नहीं हुआ। इसके बाद महिला ने अचानक गुस्से में बच्चे को हाईवे पर फेंक दिया। तभी वहां से गुजर रही तेज गति कार ने बच्चे को कुचल दिया। लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। आनन-फानन में राहगीर बच्चे को सीएचसी लेकर पहुंचे।

चिकित्सकों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। हादसे की चश्मदीद बच्ची ने रोते हुए कहा कि उनकी माता ने भाई को सड़क पर फेंका है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की तथा बच्चे के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। कोतवाली प्रभारी रवि रतन सिंह का कहना है कि प्राथमिक जांच में आरोपित महिला अर्धविक्षिप्त बताई गई है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच चल रही है।