नाहरपुरा गांव में गूंजे भगवान श्रीचारभुजा नाथ के जयकारे


बाघसुरी (नसीराबाद)।
आस्था जब हिलोरे मारती है तो भक्ति का माहौल परवान चढ जाता है। देखते ही देखते सामूहिक प्रयास से बडे से बडा काम सहज रूप में हो जाता है। कुछ ऐसा बाघसुरी पंचायत के नाहरपुरा गांव में देखने को मिला। बीते पांच दिनों से गांव में चारभुजा नाथ मंदिर में प्रतिमा प्रणा प्रतिष्ठा के दौरान समस्त ग्रामीण जुटे रहे। सभी ने मनोयोग से धार्मिक आयोजन को सफल बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोडी।

गांव के वाशिदों ने जनसहयोग के जरिए भगवान श्रीचारभुजा नाथ के मंदिर का निर्माण कराया। धार्मिक परंपराओं, अनुष्ठान तथा मंत्रोचार के बाद सोमवार को विधि विधान के साथ मंदिर में प्रतिमाओं का प्राण प्रतिष्ठा समारोह आयोजित किया गया। इस दौरान समूचा गांव भगवान चारभुजानाथ के जयकारों से गूंज उठा।

आचार्य कैलाश चंद पारीक के सान्निध्य में चारभुजा मंदिर पर शिखर कलश व प्रतिमा की विधि विधान से पूजा अर्चना कर प्राण प्रतिष्ठा कराई गई। इससे पहले मंदिर परिसर में हवन और यज्ञ का आयोजन किया गया तथा एक दिन पूर्व रविवार को ग्रामीणों ने प्रभातफेरी निकाली। गांव की हर गली मोहल्ले में भगवान चारभुजा नाथ के जयकारों की गूंज सुनाई दी। इस दौरान रामकरण गुर्जर, अमरचंद गुर्जर, रंगलाल गुर्जर, गोरधन लाल गुर्जर, जसराज गुर्जर, श्रवणलाल गुर्जर, सहदेव गुर्जर, रामनाथ, सूरेश, सकराम भडाणा, समाजसेवी मांगीलाल गुर्जर, राजूलाल गुर्जर आदि मौजूद रहे।

सोमवार सुबह मंदिर में प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आस पास गांवों से भी लोग जुटना शुरू हो गए। मंदिर में सामूहिक आरती तथा जोत के पश्चात प्रसादी का आयोजन किया गया।

धार्मिक कार्यक्रम बतौर मुख्य अतिथि श्रीनगर प्रधान कमलेश गुर्जर, कांग्रेस के युवा नेता हरदयाल गुर्जर, अशोक गुर्जर, गुर्जर, समाजसेवी संग्राम सिंह गुर्जर, जिला परिषद सदस्य पांची देवी, पंचायत समिति सदस्य भूली गुर्जर, सरपंच रेशमी देवी काठात, बाघसुरी के पूर्व सरपंच देवेन्द्र गुर्जर समेत अनेक गणमान्यजनों ने शिरकत की। सभी का माला पहनाकर व साफा बांधकर सम्मान किया गया।

सभी ने नाहरपुरा जैसे छोटे से गांव में विशाल धार्मिक आयोजन की प्रशंसा करते हुए कहा कि आस्था और विश्वास भारतीय संस्कृति की पहचान है। जनप्रतिनिधियों ने कहा कि गांव में विकास की कोई कमी नहीं रहेगी। खासतौर पर प्रधान कमलेश गुर्जर ने ग्रामीणों की मांग पर मंदिर का चबूतरा बनवाने तथा गांव में 10वीं तक का स्कूल स्वीकृत कराने के लिए व्यक्तिगत स्तर पर प्रयास करने का भरोसा दिलाया।

अजमेर में विश्वकर्मा जयंती धूमधाम से मनाई

अजमेर में भगवान विश्वकर्मा जयंती आज बहुत ही धूमधाम, उत्साह एवं धार्मिक आस्था के साथ मनाई। अजमेर शहर में श्री विश्वकर्मा जयंती महोत्सव के तहत जांगिड़ ब्राह्मण समाज ने नसीराबाद स्थित दि जांगिड़ ब्राह्मण कॉपरेटिव क्रेडिट एंड सेविंग सोसायटी लिमिटेड परिसर पर सुबह ध्वजारोहण के बाद हवन पूजन कर विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया और शोभायात्रा निकाली।

समाज की महिलाओं, बच्चों एवं बुजुर्गों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लिया। शोभायात्रा के बाद प्रसाद का भी वितरण किया गया। विश्वकर्मा जयंती को देखते हुए आज शहर भर में निर्माण मजदूरों व लकड़ी का काम करने वाले मजदूरों ने कार्य स्थगित रखा।