बदायूं में बालिका वधू से ससुर ने की कोर्ट मैरिज

बदायूं। उत्तर प्रदेश के बदायूं में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां पर एक शख्स का आरोप है कि बिना तलाक लिए उसकी पत्नी से उसके पिता ने शादी कर ली और उसे और उसके छोटे भाई को अकेला छोड़ दिया।

बदायूं जिले के कस्बा बिसौली के गांव दबतरा के रहने वाले 45 साल के देवानंद की पत्नी की 2015 में मौत हो गई थी। उस समय देवानंद की उम्र करीब 39 साल थी। देवानंद को उसके परिजनों ने सुझाव दिया कि वो दूसरी शादी कर अपना घर बसा ले लेकिन देवानंद ने उस समय अपने 15 वर्षीय पुत्र सुमित की शादी का फैसला लिया और साल 2016 में शादी करा दी। लेकिन शादी के छह महीने बाद सुमित और उसकी पत्नी में मनमुटाव रहने लगा। जिसकी वजह से दोनों में दूरियां आ गई और बहू के अपने ससुर देवानंद के साथ प्रेम संबंध बन गए।

देवानंद ने अपनी बहू से 2017 में कोर्ट मैरिज कर ली और दोनों चंदौसी में जाकर रहने लगे फिर उनका एक दो साल का बेटा भी हुआ। बेटे सुमित को शराब और जुए की लत थी, रुपए की ये जरूरत उसके पिता से ही पूरी होती थी, लेकिन कुछ दिन बाद देवानंद ने अपने बेटे को पैसे देना बंद कर दिए और सुमित ने वकील के कहने पर देवानंद के वेतन संबंधी जानकारी सूचना के अधिकार के तहत मांगी। इसके अलावा पुलिस को एक प्रार्थना पत्र भी दिया जिसमें पत्नी के कहीं चले जाने और उसको ढूढंने का निवेदन किया था।

मामले की जांच करते हुए महिला पुलिस ने देवानंद और उसके बेटे सुमित को बुलाया। थाने में सुमित अपने परवरिश और खर्चे की मांग करने लगा और दोनों में जमकर विवाद होने लगा। इसके बाद पंचायत हुई और लड़की ने अपने ससुर के साथ शादी करने के बाद उसके साथ रहने की हामी भरी। वहीं सुमित अपनी परवरिश के साथ छोटे भाई की देखरेख की जिम्मेदारी पिता देवानंद को उठाने के लिए कहा। दोनों के बीच अभी विवाद खत्म नहीं हुआ है।

इस मामले पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने बताया कि पुलिस को एक प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ था जिसमें सुमित नाम के शख्स ने किसी पुराने प्रार्थना पत्र पर क्या एक्शन लिया गया उसका विवरण मांगा था। सुमित ने अपनी पत्नी को ढूढंने का निवेदन पुलिस से किया था।

पुलिस ने बताया कि सुमित को जुए और शराब की लत है जिसकी वजह से उसकी पत्नी दूर रहने लगी थी। सुमित भी अपनी पत्नी से अलग रहने लगा। उसकी पत्नी के साथ पिता की शादी की बात भी सुमित को पता थी लेकिन वो अपने पिता से अपनी परवरिश और खर्चो की मांग को लेकर रुपए लेना चाहता था।

पुलिस का कहना है कि सुमित का बाल विवाह हुआ था। सुमित शादी का कोई भी दस्तावेज नहीं दिखा पाया। महिला ने इस बात से इनकार नहीं किया कि उसकी शादी सुमित से नहीं हुई थी। सुमित को केवल पिता से खर्चे के लिए रुपए चाहिए।