बॉल टेम्परिंग में स्मिथ-वार्नर की सज़ा पर बंटा क्रिकेट जगत

Ball Tempering cricket world divided in Smith-Warner punishment
Ball Tempering cricket world divided in Smith-Warner punishment

नयी दिल्ली। आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर पर बॉल टेम्परिंग के कारण लगे एक एक साल के प्रतिबंध पर क्रिकेट जगत बंट गया है। कुछ लोग इस सज़ा को सही ठहरा रहे हैं जबकि कई पूर्व क्रिकेटरों का मानना है कि इन खिलाड़ियों को सख्त सज़ा दी गयी है।

क्रिकेट आस्ट्रेलिया(सीए) ने अपने कप्तान स्मिथ और उपकप्तान वार्नर को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में तीसरे टेस्ट में बॉल टेम्परिंग के लिये दोषी पाया और उनपर एक एक साल का प्रतिबंध लगा दिया। सीए ने इसके साथ ही टेम्परिंग में शामिल तीसरे खिलाड़ी कैमरन बेनक्राफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध लगाया।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (अाईसीसी) ने इससे पहले स्मिथ पर एक टेस्ट का प्रतिबंध, 100 फीसदी मैच फीस और चार डी-मेरिट प्वांइट का जुर्माना लगाया था जबकि बेनक्राफ्ट पर 75 फीसदी मैच फीस और तीन डी मेरिट अंक का जुर्माना लगाया था। आईसीसी ने वार्नर पर कोई जुर्माना नहीं लगाया था।

तीनों खिलाड़ियों ने स्वदेश लौटने पर अपनी गलती के लिये पूरे देश से माफी मांग ली। स्मिथ के आंसुओं में डूबे चेहरे की तस्वीर दुनियाभर के अखबारों में छपी और इस तस्वीर ने कई क्रिकेटरों को इतना द्रवित कर दिया कि उन्होंने इस सज़ा को जरूरत से ज्यादा कह डाला।