6 दिन लगातार बैंक रहेंगे बंद, बैंक संबंधी काम पहले ही निपटा लें

Banks will be closed for 6 consecutive days in March

नई दिल्ली। बैंकों में हड़ताल, तालाबंदी या कामकाज न होना ग्राहकों के लिए हमेशा परेशानी का सबब बनता रहा है। अगर हम वर्ष 2020 की बात करें तो इस बार बैंकों में हड़ताल या बंदी जबरदस्त रही है। पिछले जनवरी माह में भी बैंक 3 दिन लगातार बन रहे थे।

अब एक बार फिर होली के बाद बैंक लगातार 6 दिन बंद रहेंगे। लोग बैंक से जुड़े काम को निपटाने के लिए एक दिन पहले प्लान करते हैं। ऐसे में आम आदमी की परेशानी बढ़ सकती है। क्योंकि अगले महीने होली भी है, और त्योहार के दौरान नकदी की किल्लत बढ़ सकती है।

होली के समय ग्राहकों को बढ़ सकती है परेशानी

अगले माह यानी 10 मार्च को होली का त्यौहार है बैंकबंदी होने से ग्राहकों को परेशानी भी हो सकती है। अगले महीने के दूसरे हफ्ते में बैंक से जुड़े काम है तो फिर आप उसे होली यानी 10 मार्च से पहले निपटा लें। 6 दिन तक बैंक में कामकाज बंद रहेगा। इस वजह से पैसे निकालने या फिर बैंक से जुड़ा कोई भी नहीं हो पाएगा।

इसके अलावा एटीएम में कैश की कमी भी हो सकती है। बैंक में लगातार 6 दिन कामकाज न होने के तीन कारण है, पहला होली अवकाश दूसरा बैंक कर्मचारियों की हड़ताल तीसरा 2 दिन बैंक की छुट्टी रहेगी। कुल मिलाकर 10 मार्च से लेकर 15 मार्च तक बैंक बंद रहेंगे। हालांकि इस दौरान 11 से 13 मार्च तक प्राइवेट बैंक खुले रहेंगे।

मांगे पूरी न होने पर बैंक कर्मचारी फिर से कर रहे हड़ताल

बैंक कर्मचारियों का कहना है कि उनकी मांगों को अभी तक पूरी नहीं किया गया है, जिसके कारण सभी कर्मचारी एक बार फिर से हड़ताल जाएंगे। इससे पहले बैंक कर्मचारियों ने जनवरी और फरवरी महीने में भी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल की थी, उसके बाद 14 मार्च और 15 मार्च को भी बैंक बंद रहेंगे, क्योंकि 14 मार्च को महीने का दूसरा शनिवार है और 15 मार्च को रविवार छुट्टी होने की वजह से छुट्टी है।

इसी वजह से अगर आपको बैंक से जुड़े काम है तो फिर 9 मार्च तक निपटा लें या फिर 16 मार्च को ही हो पाएगा। इस बीच में लगातार बैंक बंद रहेंगे। सरकारी बैंक के कर्मचारियों की सैलरी को हर 5 साल में रिवाइज किया जाता है। इससे पहले साल 2012 में सैलरी रिवाइज किया गया था। उसके बाद से अब तक सैलरी को रिवाइज नहीं किया गया है, इसी मांग को लेकर बैंक कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं।

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार