बरेली विधायक की बेटी साक्षी पहुंची हाईकोर्ट, वकीलों ने की धक्का मुक्की

प्रयागराज। सुरक्षा के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंची भारतीय जनता पार्टी के बरेली सीट से विधायक राजेश मिश्र की बेटी साक्षी के पति अजितेश के साथ साेमवार को अधिवक्ताओं ने धक्का-मुक्की की।

न्यायाधीश वाईके श्रीवास्तव ने मामले की सुनवाई की। पुलिस की लापरवाही को लेकर कड़ी फटकार लगाते हुए याची साक्षी मिश्रा और अजितेश को पूर्ण पुलिस सुरक्षा प्रदान करने का आदेश दिया। अदालत ने दोनों को बालिग माना है और पुलिस को उन्हें सुरक्षा देने का आदेश दिया है।

न्यायालय परिसर में पुलिस और महिला पुलिस साक्षी और अजितेश को लेकर न्यायाधीश के चेम्बर में जा रहे थे कि अधिवक्ताओं का एक समूह ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया। पुलिस के साथ महिला पुलिस को बीच बचाव करते हुए हल्की धक्का-मुक्की का सामना करना पड़ा।

गौरतलब है कि बरेली से विधायक राजेश मिश्र की बेटी साक्षी ने दलित युवक अजितेश से ब्याह रचाने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर सुरक्षा की मांग की है। 11 जुलाई को न्यायालय में नहीं आने के कारण याचिका की अगली सुनवाई 15 जुलाई को निर्धारित की गई थी।

याचीगण का कहना है कि उन्होंने शादी कर ली है। साक्षी ने अपने पति अभितेश कुमार की जान को खतरा बताते हुए याचिका दाखिल की है और दोनों के शान्तिपूर्ण जीवन में किसी के हस्तक्षेप पर रोक लगाने की मांग की गई है।

याचिका में दलित से शादी के खिलाफ अपने पिता एवं परिवार के दूसरे लोगों से जान का खतरा बताया गया है। याची का कहना है कि दोनों बालिग है और अपनी मर्जी से मंदिर में शादी कर ली है। याचिका में बरेली पुलिस पर भी विधायक पिता के दबाव में काम करने का आरोप लगाया गया है।