बरेली : रेप के मामले में समझौता न करने पर पीड़िता के दादा की हत्या

बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में दुष्कर्म के एक मामले में समझौता न करने पर पीड़ित किशोरी के दादा की लाठी-डंडों से पीटकर हत्या कर दी गई।

पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि घटनास्थल पर मौजूद पीड़िता के दो चाचाओं ने दादा को बचाने की कोशिश की तो हमलावरों ने उन पर तमंचा तान दिया और गोली मारने की धमकी देकर भगा दिया। पुलिस ने इस मामले में चार लोगों के खिलाफ मीरगंज थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।

बरेली के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि चार आरोपियों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। अग्रवाल ने बताया कि मीरगंज इलाके के एक गांव में रहने वाले पीड़िता के 55 वर्षीय दादा गुरुवार को दोपहर में दो बेटों के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर दवा लेने निकले थे।

गांव से निकलते ही बंद पड़े मेंथा प्लांट के पास दुष्कर्म के आरोपी सूरज पाल के परिवारीजन महेंद्र, राहुल, रामस्वरूप और भगवान दास ने उन्हें सामने आकर रोक लिया और कहा कि अभी मौका है अभियुक्त सूरजपाल के पक्ष में बयान दोगे कि नहीं। पीड़िता के दादा ने साफ कहा कि मरते दम तक बयान नहीं बदले जाएंगे।

इस पर लाठी, डंडे और तमंचे से लैस अभियुक्त के परिजनों ने दादा पर हमला बाेल दिया। उसके बेटों ने पिता को छुड़ाना चाहा तो हमलावरों ने उन पर तमंचे तान दिए और गोली मारने की धमकी दी। इस दौरान एक बेटे के साथ हमलावरों ने मारपीट भी की। इस पर दोनों वहां से भाग निकले। इसके बाद हमलावरों ने पीट-पीट कर पीड़िता के दादा की हत्या कर दी।

गांव पहुंचे बेटों ने पिता के मारे जाने की दी। इस पर कुछ ग्रामीणों ने मौके पर पहुंच कर पीड़िता के दादा का शव देख पुलिस को सूचना दी। थाना मीरगंज पुलिस ने शव को बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मृत किसान के बेटे के मुताबिक एक साल पहले उनके परिवार की एक लड़की के साथ गांव के ही सूरजपाल ने दुष्कर्म किया था। इसकी रिपोर्ट थाना मीरगंज में दर्ज कराई गई थी। सूरजपाल जेल में बंद है। उसके परिवार के लोग काफी समय से उनके पिता पर समझौता करने का दबाव डाल रहे थे। आए दिन उनके परिवार को धमकियां भी दी जा रही थीं।

इंस्पेक्टर मीरगंज संदीप त्यागी ने बताया कि किसान के शरीर पर कोई खुली चोट नहीं थी। सिर्फ आंख के नीचे चोट के निशान थे। सिर में गंभीर लगी चोट लगी हुई है। आरोपी महेंद्र, राहुल, भगवान स्वरूप और रामस्वरूप के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गई है। चारों की तलाश में दबिश दी जा रही है।