राजीव खेल रत्न के लिए इस बार भी छिड़ेगा घमासान

नई दिल्ली। देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न के लिए लगातार पांचवें वर्ष घमासान छिड़ेगा और इस बार भी यही उम्मीद जताई जा रही है कि एक से ज्यादा खिलाड़ी को यह सम्मान मिलेगा।

केंद्रीय खेल मंत्रालय ने इस साल के राष्ट्रीय खेल अवॉर्ड के लिए ई-मेल के जरिए नामांकन आमंत्रित किये थे। राष्ट्रीय खेल अवॉर्ड के नामांकन की शुरुआत अप्रैल में होनी थी लेकिन कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इसे मई तक बढ़ा दिया गया था। नामांकन भेजने की अंतिम तारीख तीन जून थी। इस वर्ष खेल रत्न के लिए जनवरी 2016 से दिसंबर 2019 तक के प्रदर्शन को ध्यान में रखा जाएगा।

इस वर्ष खेल रत्न के दावेदारों में अनुभवी निशानेबाज अंजुम मुद्गिल, स्टार भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा, भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी, स्टार मुक्केबाज अमित पंघल और विकास कृष्णन, भारतीय क्रिकेट टीम के सीमित ओवरों के उपकप्तान और धाकड़ बल्लेबाज रोहित शर्मा तथा स्टार महिला पहलवान विनेश फोगाट शामिल हैं।

पिछले चार वर्षों में एक से ज्यादा खिलाड़ियों को खेल रत्न से सम्मानित किया गया है जबकि इस पुरस्कार के नियम कहते हैं कि ओलम्पिक वर्ष को छोड़कर अन्य वर्षों में एक ही खिलाड़ी को खेल रत्न के लिए चुना जाएगा।

वर्ष 2016 में रियो ओलम्पिक की पदक विजेता पीवी सिंधू और साक्षी मालिक के अलावा जीतू राय और दीपा करमाकर, 2017 में सरदार सिंह और देवेंद्र झाझरिया, 2018 में मीराबाई चानू और विराट कोहली तथा 2019 में दीपा मलिक और बजरंग पूनिया को खेल रत्न दिया गया था। इस बार जितने भी दावेदार हैं उनमें से किसी का भी दावा कमजोर नहीं है और चयन पैनल को खेल रतन चुनने के लिए खासी माथापच्ची करनी पड़ेगी।

इन दावेदारों में स्टार भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा का नाम लगातार तीसरे साल खेल रत्न के लिए भेजा गया है। नीरज 2016 में विश्व जूनियर खिताब जीतने के बाद से भाला फेंक में देश के शीर्ष एथलीट बने हुए हैं और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी उन्होंने अपनी पहचान बनाई है। नीरज 2018 राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता हैं और देश की ओलम्पिक उम्मीदों में उनका नाम शुमार है।

भारतीय एथलेटिक्स महासंघ ने एएफआई के अध्यक्ष आदिल सुमारिवाला ने कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि इस बार नीरज को खेल रत्न जरूर मिलेगा। 2018 में भारोत्तोलक मीराबाई चानू और विराट कोहली को खेल रत्न दिया गया था जबकि 2019 में पहलवान बजरंग और दीपा मलिक को चुना गया था। अगले वर्ष होने वाले टोक्यो ओलम्पिक को देखते हुए हमें उम्मीद है कि यह सर्वोच्च सम्मान उन्हें मिलेगा जो उन्हें ओलम्पिक में देश के लिए पदक जीतने की प्रेरणा देगा।

भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ ने अनुभवी निशानेबाज अंजुम मुद्गिल का नाम भेजा है। खेल रत्न के लिए नामांकित की गई चंडीगढ़ की अंजुम 2018 की विश्व चैंपियनशिप में दो रजत पदक और 2018 के गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीत चुकी हैं। वह 10 मीटर एयर राइफल में विश्व रैंकिंग में दूसरे स्थान तक पहुंच चुकी हैं। 26 वर्षीय अंजुम को पिछले वर्ष अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। वर्ष 2008 में निशानेबाजी शुरू करने वाली अंजुम टोक्यो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई कर चुकी हैं।

हॉकी इंडिया ने भारतीय महिला टीम की कप्तान रानी का नाम भेजा है। रानी ने अपनी अगुवाई में भारतीय महिला टीम को उल्लेखनीय सफलताएं दिलायीं हैं जिसमें 2017 महिला एशिया कप में खिताबी जीत, 2018 एशियाई खेलों में रजत पदक और 2019 में टोक्यो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई करना शामिल है।

भारत ने अमेरिका को ओडिशा के भुवनेश्वर में हराकर टोक्यो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई किया था। भारत की जीत में कप्तान रानी ने निर्णायक गोल दागा था। रानी को वर्ष 2019 के लिए वर्ल्ड गेम्स एथलीट ऑफ़ द ईयर चुना गया और यह उपलब्धि हासिल करने वाली वह पहली भारतीय हैं। रानी को 2016 में अर्जुन पुरस्कार और 2020 में पद्मश्री सम्मान मिल चुका है।

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने अपने स्टार मुक्केबाजों अमित पंघल और विकास कृष्णन का नाम भेजा है। पंघल और कृष्णन ने पिछले चार वर्षों में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लगातार शानदार प्रदर्शन किया है। पंघल ने एशियाई खेलों में स्वर्ण, एशियाई चैंपियनशिप में स्वर्ण, राष्ट्रमंडल खेलों में रजत और पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में ऐतिहासिक रजत पदक जीता था। विकास विश्व चैंपियनशिप के पूर्व कांस्य पदक विजेता हैं और पिछले राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण जीत चुके हैं। विकास ने एशियाई खेलों और एशियाई चैंपियनशिप में कांस्य पदक भी जीते हैं।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने सीमित ओवरों के उपकप्तान और धाकड़ बल्लेबाज रोहित शर्मा का नाम भेजा है। बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने उम्मीद जताई है कि रोहित खेल रत्न बनेंगे। रोहित छोटे फॉर्मेट में भारतीय टीम के उपकप्तान हैं और मौजूदा समय में उनका शुमार दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में होता हैं। वह 2019 में आईसीसी के वनडे क्रिकेटर ऑफ द ईयर रहे थे। उन्होंने पिछले साल एकदिवसीय विश्व कप में पांच शतक बनाने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था। वह टी-20 क्रिकेट में चार शतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज हैं। टेस्ट ओपनर के रूप में पहली बार उतरते हुए उन्होंने दोनों पारियों में शतक जड़ने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था।

महिला पहलवान विनेश फोगाट का नाम भारतीय कुश्ती महासंघ ने भेजा है। विनेश 2018 में राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में स्वर्ण और पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीत चुकी हैं। विनेश टोक्यो ओलम्पिक के लिए अब तक क्वालीफाई करने वाली एकमात्र भारतीय महिला पहलवान हैं।