आशावादी बनें, नकारात्मक दृष्टिकोण न अपनाएं

Be optimistic, do not adopt negative views

Be optimistic, do not adopt negative views

सबगुरु न्यूज़| आज कैंसर, हृदय रोगों की तरह भयंकर रोगों में एक रोग और जुड़ गया है, वह है तनाव। तनाव न केवल एक रोग है बल्कि अन्य रोगों का कारण भी है। इस तनाव का कारण आज का मशीनी युग, पैसा कमाने की होड़, महत्त्वाकांक्षाएं और न जाने क्या-क्या है। थोड़ा बहुत तनाव तो हर व्यक्ति को होता है परंतु समझदार व्यक्ति वही होता है जो इस तनाव के लिए अपना सुख चैन नहीं गंवाता। तनावग्रस्त व्यक्ति स्वयं ही कुढ़ता रहता है।

महिलाएं सबसे अधिक तनावग्रस्त रहती हैं क्योंकि वे अपने लिए तो जीती ही नहीं हैं। उनका सारा जीवन दूसरों की सेवा में ही लगा रह जाता है परन्तु आप अपनी सामथ्र्य से अधिक किसी के लिए कुछ नहीं कर सकते, इसलिए जितना उचित है, उतना ही करें। जो व्यक्ति स्वयं खुश नहीं रह सकता, वह दूसरों को कैसे खुश रख सकेगा। इसलिए बेवजह तनाव न लें और तनाव का सामना आशावादी दृष्टिकोण अपना कर करें। तनावपूर्ण स्थिति में नकारात्मक दृष्टिकोण अपनाकर कई लोग आत्महत्या तक कर लेते हैं। जीवन के प्रति नकारात्मक दृष्टिकोण किसी तनाव का समाधान नहीं है, इसलिए नकारात्मक दृष्टिकोण एक कायरता है। आशावादी बन कर ही आप भयंकर बीमारी का सामना कर सकते है।

Video:HOT NEWS UPDATE : कुछ ही दिनों में बॉडी कैसे बनाये || जानने के लिए देखिये ये वीडियो

Video:HOT NEWS UPDATE : महिला की कार का काँच तोड़ा और फिर जो हुआ वो देखते ही रह जाओगे || जानने के लिए देखिये ये वीडियो

VIDEO राशिफल 2018 पूरे वर्ष का राशिफल एक साथ || ग्रह नक्षत्रों का बारह राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो