गोलीकांड में घायल बहरोड नगरपालिका उपाध्यक्ष राकेश शर्मा का निधन

Behror municipal vice chairman Rakesh Sharma died after being shot

अलवर। राजस्थान के श्रम मंत्री डॉ जसवंत यादव ने अलवर जिले के बहरोड़ में नगरपालिका उपाध्यक्ष राकेश शर्मा की हत्या की निंदा करते हुए कहा है कि पुलिस इस मामले का शीघ्र खुलासा करे नहीं तो संबंधित अधिकारियों को बदलना पड़ेगा।

डॉ यादव शर्मा की मौत के समाचार सुनकर बुधवार को बहरोड़ पहुंचे और पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने स्वीकार किया कि बहरोड में अपराध बढ़ रहे हैं और पुलिस अपराधियों को पकड़ नहीं पा रही है। उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि पन्द्रह दिन में अपराधी पकड़े जाएं नहीं तो संबंधित पुलिस अधिकारी अपना बोरिया बिस्तर बांध ले।

उन्होंने पुलिस अधिकारियों से कहा कि क्षेत्र में गश्त बढ़ाई जाए और पुलिस के प्रति आमजन का भरोसा जीता जाए। उन्होंने इस मामले में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया से भी बात की है।

उन्होंने कहा कि पुलिस की नफरी बढ़नी चाहिए। अलवर जिले का यह सबसे बड़ा इलाका है और उन्होंने इस बात पर चिंता व्यक्त की कि अपराधी बाहर से आकर अपराध करते हैं तो पुलिस को तुरंत सूचना देनी चाहिए और अपने ही लोग अपराधी को बुलाकर अपराध कराते हैं तो यह सबसे खतरनाक काम है। इसके लिए आमजन को सजग रहना चाहिए।

उन्होंने कुुुछ नेताओं को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि नेता लोग यहां अवैध कॉलोनी के कार्य से जुड़े हुए हैं और अवैध कॉलोनी कटती है तो बाहर के लोग आते हैं और फिर बंटवारे को लेकर इनमें लड़ाई होती है और मामला हत्या तक पहुंच जाता है उन्होंने कहा कि हत्या जैसे मामले बहरोड़ इलाके में बढ़ रहे हैं।

उन्होंने होटल और ढाबों की नियमित चेकिंग की मांग की है जिससे यहां हो रही वेश्यावृत्ति बंद होनी चाहिए। उन्होंने इस बात पर चिंता जाहिर की कि वेश्यावृत्ति बढती जा रही हैं। उन्होंने कहा कि हाइवे पर बिकने वाली अवैध शराब का कारोबार भी बंद होना चाहिए।

बहरोड़ थाना क्षेत्र में सोमवार देर रात एक शादी समारोह में शामिल होने गए श्री शर्मा की अज्ञात बदमाशों द्वारा गोली मारकर गंभीर रुप से घायल कर दिया गया था। बाद में उन्हें हरियाणा के गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल भेजा गया जहां आज उनकी मौत गई। उनके शोक में आज बहरोड के बाजार बंद रहे।

बहरोड़ पुलिस उपाधीक्षक जनेश सिंह तंवर ने बताया कि इस मामले में तीन संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया हैं और जिनसे पूछताछ की जा रही है। उन्होंने शीघ्र ही इस मामले का खुलासा करने का दावा किया है।

उधर, बहरोड़ थाना प्रभारी भरत मेहर ने बताया कि इस मामले में दो पक्षों के बीच प्रॉपर्टी विवाद के चलते यह घटना घटित हुई है। शर्मा प्रॉपर्टी व्यवसाय से जुड़े हुए थे। उन्होंने बताया कि आरोपियों को पकडऩे के लिए कई टीमें गठित की गई हैं और बदमाशों की तलाशी के लिए के लिए पूरी कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश ने भी बहरोड पहुंचकर इस मामले की जानकारी ली और जांच के निर्देश दिए। प्रकाश ने भी आराेपियों की धरपकड़ में लगी टीमों को निर्देशित किया कि इस मामले में किसी तरह की कोताही नहीं बरती जाए और शीघ्र ही उन्हें गिरफ्तार किया जाए। बहरोड में अतिरिक्त पुलिस जाप्ता भी तैनात किया गया है।