पद्मश्री पाने वाली पहली महिला फुटबॉलर बनी बेमबेम देवी

नई दिल्ली। भारतीय फुटबॉल की दुर्गा के नाम से प्रसिद्ध ओनम बेमबेम देवी पद्मश्री पाने वाली पहली भारतीय महिला फुटबॉलर और ओवरआल सातवीं फुटबॉलर बन गई हैं।

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ के अध्यक्ष प्रफुल पटेल और महासचिव कुशल दास ने बेमबेम देदेवी को पद्मश्री के लिए चुने जाने पर बधाई दी है। पुरुष टीम के कप्तान सुनील छेत्री पद्मश्री हासिल करने वाले अंतिम फुटबॉलर थे जिन्हें 2019 में इस पुरस्कार से नवाजा गया था।

बेमबेम ने इस पुरस्कार के लिए चुने जाने पर ख़ुशी व्यक्त करते हुए उम्मीद जताई कि इससे भारत में महिला फुटबाल को फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि यह उन सभी के लिए आंखे खोलने वाला है जो मानते हैं कि आप भारत में महिला फुटबॉल खेलते हुए आगे नहीं बढ़ सकते। मैं उम्मीद करती हूं कि इससे सभी लड़कियां और उनके माता-पिता प्रेरित होंगे। यह फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप का साल है। यह पद्मश्री अगली पीढ़ी की लड़कियों के लिये है।

बेमबेम से पहले यह पुरस्कार स्वर्गीय गोस्थो पॉल, स्वर्गीय सैलेन मन्ना, चुन्नी गोस्वामी, पीके बनर्जी, बाईचुंग भूटिया और सुनील छेत्री को मिल चुका है।