नीतीश का राजग से नाता तोड़ना धोखा, जनता कभी माफ नहीं करेगी : भाजपा

पटना। बिहार भारतीय जनता पार्टी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) से नाता तोड़ने को बहुत बड़ा धोखा करार दिया और कहा कि प्रदेश की जनता इसे कभी माफ नहीं करेगी।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद संजय जायसवाल ने पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं मंत्री मंगल पांडेय समेत कई अन्य मंत्रियों की उपस्थिति में मंगलवार को यहां प्रदेश मुख्यालय में जल्दबाजी में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वर्ष 2020 के चुनाव में राजग के तहत हम सभी ने मिलकर चुनाव लड़ा था, जो बहुमत था वह राजग में भाजपा और जनता दल यूनाइटेड को मिला था।

जायसवाल ने कहा कि भाजपा के 74 सीट जीतने में कामयाब रहने के बावजूद भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने जो वादा किया था उसका पालन किया गया और कुमार को मुख्यमंत्री बनाया गया। जो कुछ भी हुआ है, वह बिहार की जनता के साथ और भाजपा के साथ धोखा है। यह उस जनादेश के साथ भी धोखा है। यह न सिर्फ भाजपा बल्कि बिहार की जनता से भी धोखा है। बिहार की जनता इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।

..मैंने पहले ही कहा था, नीतीश राजग छोड़ देंगे : चिराग

लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बिहार के जमुई लोकसभा सीट से सांसद चिराग पासवान ने राज्य में मंगलवार के घटनाक्रम पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि उन्होंने पहले ही कहा था कि कुमार भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़ देंगे।

उन्होंने कुमार पर बिहार को अंधेरे में झोंकने का आरोप लगाते हुए चुनौती दी कि यदि उनमें राजनीतिक साहस है तो वह अकेले चुनाव लड़कर जनादेश लें। पासवान ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि मैंने तो पहले ही कह दिया था कि श्री नीतीश कुमार राजग से नाता तोड़ सकते हैं।

उन्होंने दावा किया कि वर्ष 2025 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में श्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड शून्य सीट पर सिमट जाएगी। सांसद ने कहा कि उन्होंने पिछले विधानसभा चुनाव से पहले ही आगाह किया था कि कुमार चुनाव बाद कभी भी पलटी मार सकते हैं। आज वह दिन आ गया।

उन्होंने कहा कि कुमार को बिहार में सबसे अच्छे से कोई जानता है तो मैं दावे के साथ बोल सकता हूं कि मैं जानता हूं। उनके अहंकार के कारण प्रदेश का बुरा हाल हुआ है। पासवान ने कहा कि कुमार में यदि राजनीतिक हिम्मत है तो चुनाव में चलें। कुमार किसी भी प्रकार सत्ता में बने रहना चाहते हैं।

उन्होंने जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह के ‘चिराग मॉडल’ संबंधी बयान पर कहा कि हां यह बात सही है कि उन्होंने भाजपा से कहा था, वह अकेले चुनाव लड़ना चाहते हैं क्योंकि वह किसी भी कीमत पर कुमार के साथ काम नहीं कर सकते।

गौरतलब है कि ललन सिंह ने कहा था कि भाजपा ने जनता दल (यूनाइटेड) को कमजोर करने के लिए पिछले चुनाव में पासवान से जद (यू) के प्रत्याशियों के खिलाफ अपनी पार्टी के उम्मीदवार खड़े कराए थे।

पासवान ने कहा कि कुमार ने न सिर्फ उनके पिता दिवंगत रामविलास पासवान का अपमान किया था बल्कि पूरे बिहार को अंधकार में झोंक दिया है। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी प्रतिज्ञा के कारण ही नीतीश की पार्टी के खिलाफ विधानसभा का चुनाव लड़ा था।

लोजपा सांसद ने कहा कि उस समय अकेले चुनाव लड़ने के लिए जो साहस चाहिए था, वह सिर्फ मुझमें ही था। अन्य किसी ने भी उस समय अकेले लड़ने की हिम्मत नहीं दिखाई। मैं फिर से कहना चाहता हूं कि कुमार में हिम्मत है तो अकेले चुनाव लड़कर देख लें।

उन्होंने कहा कि इस बार विधानसभा चुनाव में 43 सीटें जदयू को मिली लेकिन अगली बार जदयू शून्य पर सिमट जाएगा। जो भी नए साथी नीतीश कुमार के साथ जाएंगे, वह उन सबका भविष्य खराब कर देंगे।

जदयू के बाद हम ने भी भाजपा का साथ छोड़ा

बिहार में बदलते राजनीतिक घटनाक्रम के बीच राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के घटक जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के बाद अब हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) ने भी भारतीय जनता पार्टी से अपना नाता तोड़ लिया।

पूर्व मुख्यमंत्री एवं हम के संरक्षक जीतनराम मांझी ने मंगलवार को यहां कहा कि उनकी पार्टी राजग को छोड़कर बिना किसी शर्त के नीतीश कुमार के नेतृत्व में महागठबंधन की सरकार को अपना समर्थन देगी। नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। अब जल्द ही महागठबंधन में शामिल होकर सरकार बनाएंगे।

इस महागठबंधन में राष्ट्रीय जनता दल (राजद), जदयू, कांग्रेस और वामपंथी दलो के अलावा जीतन राम मांझी की पार्टी हम भी होगी।

लालू के हुए नीतीश, थम गया बिहार का सियासी भूचाल

नीतीश कुमार राजद संग मिलकर बनाएंगे नई सरकार, फिर बनेंगे मुख्यमंत्री

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का इस्तीफा, एनडीए से तोडा नाता