भागलपुर में अधिवक्ता समेत दो की गला दबाकर हत्या

Verified Apps to watch T20 World Cup 2022 Live Stream

भागलपुर। बिहार के भागलपुर जिले में तिलकामांझी थाना क्षेत्र के नवाबबाग काॅलोनी में आज सुबह कुछ अपराधियों ने बिहार बार काउंसिल के उपाध्यक्ष एवं अधिवक्ता कामेश्वर पांडेय और उनकी नौकरानी की गला दबाकर हत्या कर दी गई।

भागलपुर के पुलिस उप महानिरीक्षक सुजीत कुमार ने आज यहां बताया कि मृत अधिवक्ता कामेश्वर पांडेय (62) नवगछिया पुलिस जिले में गोपालपुर थाना क्षेत्र के तिनटंगा गांव के मूल निवासी थे और भागलपुर शहर में रहते थे। उनकी देखभाल के लिए रखी गई नौकरानी रेणु देवी का शव एक बड़े जेनेरेटर के ड्रम से बरामद किया गया है। हत्यारे उनकी कार भी अपने साथ ले गए हैं।

कुमार ने बताया कि इस हत्याकांड में शामिल अपराधियों की पहचान कर ली गई है और उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें पूरे क्षेत्र की नाकेबन्दी कर विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। उन्होंने कहा कि हत्यारों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जएगा।

पुलिस उप महानिरीक्षक ने बताया कि मृत अधिवक्ता के मकान में रहने वाले किरायेदार घटना के बाद से फरार हैं और पुलिस की प्रारंभिक जांच में उसका आचरण संदिग्ध पाया गया है। पुलिस इस बात पर गौर करते हुए कई बिन्दुओं पर जांच कर रही है। इसके अलावा घटनास्थल और आसपास के इलाकों में प्रशिक्षित स्वान की मदद से छानबीन की जा रही है।

वहीं, भागलपुर के वरिष्ठ अधिवक्ता कामेश्वर पांडेय की हत्या से जिलेभर के अधिवक्ताओं में आक्रोश है और इसके खिलाफ सभी वकीलों ने आज विभिन्न न्यायलयों में स्वयं को न्यायिक कार्य से अलग रखा। इस बीच बिहार कांग्रेस विधनमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने प्रदेश के वरिष्ठ अधिवक्ता पांडेय की जघन्य हत्या की कड़ी निन्दा करते हुए हत्याकांड में शामिल अपराधियों को तुरंत गिरफ्तार किए जाने की मांग पुलिस के वरीय पुलिस अधिकारियों से की है।

प्रदेश युवा अधिवक्ता कल्याण समिति के पूर्व अध्यक्ष ओमप्रकाश तिवारी, पीरपैंती के राष्ट्रीय जनता दल (राजद) विधायक रामविलास पासवान, लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) महिला मोर्चा की प्रदेश महासचिव संगीता तिवारी, राजद के राज्य परिषद सदस्य प्रेमलता उपाध्याय ने भी इस दोहरे हत्याकांड की कड़ी भत्सर्ना की है।