अलवर में बंद के दौरान उपद्रव करने पर करीब सौ लोगाें को जेल भेजा

bharat bandh : Around 100 people sent to jail for violence in Alwar
bharat bandh : Around 100 people sent to jail for violence in Alwar

अलवर। राजस्थान के अलवर जिले में खैरथल और एनईबी थाना क्षेत्रों में बंद के दौरान उपद्रव करने के मामले में करीब सौ लोगों को मंगलवार को जेल भेज दिया गया।

एनईबी थाना प्रभारी देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सोमवार को बंद के दौरान थाने पर पथराव एवं वाहनों में आग लगाने सहित कई मामलों में 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया जिन्हें मंगलवार को अदालत में पेश किया गया जहां उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

उन्होंने बताया कि इन आरोपियों को अब अलग-अलग मुकदमों में गिरफ्तार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि उपद्रव करने के मामले में सौ से अधिक नामजद लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। बंद में प्रदर्शन करने आए लोगों की गाड़ियों के नंबर के आधार पर आंदोलनकारियों की पहचान की जा रही है और उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जाएंगे।

खैरथल थाना प्रभारी जितेंद्र यादव ने बताया कि बंद के दौरान थाने पर आगजनी करने और सार्वजनिक और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में 69 लोगों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया जहां इन लोगों को जेल भेज दिया गया है।

उन्होंने बताया कि हिंसक उपद्रव में 180 लोगों को नामजद किया गया है जबकि तीन हजार अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है जिनकी पहचान की जा रही है।

जीआरपी थाना पुलिस ने दाऊदपुर में प्रदर्शनकारियों द्वारा रेल की पटरी उखाड़ने के मामले में मुकदमे दर्ज किए हैं उन्होंने कहा कि जांच करने के बाद संबंधित आरोपियों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

उधर, हिंडोनसिटी और गंगापुर सिटी में हुए उपद्रव के बाद मंगलवार को करौली हिंडोन और महावीरजी जाने वाली बसे प्रभावित रही हैं। इन बसों को महुआ मंडावर तक चलाया गया है। रोडवेज सूत्रों के अनुसार अलवर में भारत बंद के दौरान रोडवेज की तीन बसों को उपद्रवियों ने क्षतिग्रस्त किया।

पटरी उखाड़ने एवं रेल रोकने पर करीब 3000 के खिलाफ मुकदमा

अलवर में दाउदपुर में भारत बंद के दौरान रेल पटरी उखाड़ने एवं रेल रोकने के आरोप में करीब तीन हजार लोगों के खिलाफ जीआरपी ने मंगलवार को मुकदमा दर्ज किया।

जीआरपी के हैड कांस्टेबल कैलाश चंद ने बताया कि अलवर रेलवे स्टेशन पर जीआरपी ने दो हजार लोगों एवं खैरथल में एक हजार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया हैं। उन्होंने बताया कि आईपीसी की धारा 147, 149 एवं 379 तथा रेलवे कानून के तहत यह मुकदमा दर्ज किया गया हैं।

उन्होंने बताया कि मामले की जांच जीआरपी थानाधिकारी रमेश चंद करेंगे। उल्लेखनीय है कि सोमवार को भारत बंद के दौरान प्रदर्शनकारियों ने दाउदपुर में रेल पटरी को उखाड़ दिया और कई रेलगाड़ियों को रोक दिया।

एससी/एसटी एक्ट : फैसले पर रोक से सुप्रीम कोर्ट का इन्कार

VIDEO: भारत बंद के दौरान हिंसक प्रदर्शन के बाद अजमेर में शांति

VIDEO राजस्थान में बंद के दौरान पुलिस फायरिंग में एक व्यक्ति की मौत