कांग्रेस-भाजपा के राज में कभी दूर नहीं होगा प्रदेश का पिछड़ापन : अखिलेश तिवाड़ी

जयपुर/चाकसू। भारत वाहिनी पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष अखिलेश तिवाड़ी ने कहा कि राजस्थान को भारत के पांच सबसे ज्यादा पिछड़े और बीमारू राज्यों की सूची में शामिल किया गया है। ऐसा भारत के नीति आयोग द्वारा जारी की गई रिपोर्ट में बताया है।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा राजस्थान मानव विकास, सामाजिक सुरक्षा, पर्यावरण, कानून व्यवस्था, चिकित्सा, शिक्षा, महिलाओं और बच्चों की स्थिति को लेकर राजस्थान को देश के 30 राज्यों में सबसे पिछड़ा बताया गया है।

तिवाड़ी ने कहा जो प्रदेश पिछड़ा हुआ होता है उसमें रहने वाले लोगों का जीवन स्तर भी पिछड़ा होता है, तो वहीं जो राज्य देश में अग्रणी माने जाते हैं उनके यहां कृषि से लेकर तमाम क्षेत्र भी अग्रणी ही होते हैं। तिवाड़ी मंगलवार को चाकसू में भारत वाहिनी पार्टी की मीटिंग को संबोधित कर रहे थे।

तिवाड़ी ने कहा कि राजस्थान को पिछड़े राज्य की श्रेणी से निकाल कर देश के अग्रिम राज्य की श्रेणी में लाने के लिए कार्य करना है। जिससे कि प्रदेश में हो रहे जल संकट का निवारण, उर्जा स्वाधीनता, किसानों को फसल का उचित मुल्य, छोटे-मंझले स्तर के व्यापार-उद्योगों को आगे बढ़ाने के लिए योग्य वातावरण, युवाओं को बेहतर रोजगार, महिलाओं की आर्थिक और सामाजिक सुरक्षा हो, छात्र-छात्राओं को अच्छे शिक्षण संस्थान मिले, मजदूर को उनके प्रतिदिन की दिहाड़ी मिल सके, बुजुर्गों के लिए सामाजिक सुरक्षा और कर्मचारियों को उनके काम का सम्मान मिल सके। लेकिन ऐसा करने में प्रदेश के सामने दो बड़ी बाधाओं के रूप में भाजपा और कांग्रेस खड़ी है।

प्रदेश को पिछड़ा बनाये रखने में भाजपा और कांग्रेस का 20 वर्ष का साझा शासन है। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा सरकार से राज्य की जनता बहुत परेशान है, उस पर कांग्रेस सोच रही है कि उसे पकी-पकाई खीर खाने को मिल जाएगी।

तिवाड़ी ने तीखा सवाल करते हुए कहा कि मैं कांग्रेस से एक सवाल पूछना चाहता हूं कि पिछले साढ़े चार साल में कांग्रेस ने विपक्ष के नाते ऐसा कौनसा अच्छा काम किया जिसके कारण वह सत्ता में आने का ख्वाब देख रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में दोनों राजनीतिक दलों ने आम जनता को फुटबॉल बना रखा है।

आम जनता पांच साल एक दल के पैरों में और अगले पांच साल दूसरी पार्टी के पैरों में तड़पती नजर आती है। इस माहौल में नई क्रांति की शुरूआत के लिए संगठन निर्माण जरूरी दिखाई पड़ता है। भाजपा और कांग्रेस ने आपस में जो साझेदारी कर रखी है उसे खत्म करने के लिए दोनों दलों को हटाकर सत्ता परिवर्तन की आवश्यकता है।

इस दौरान कार्यक्रम में प्रदेश युवा वाहिनी अध्यक्ष सुधांशु जैन, प्रदेश युवा वाहिनी संगठन महामंत्री अंकित शर्मा, प्रदेश युवा वाहिनी के उपाध्यक्ष विप्र संजीव, जयपुर संभाग प्रभारी अवधेश शर्मा, गणेश शर्मा, डॉ सुभाष कोटखावदा, चाकसू देहात के युवा वाहिनी मंडल अध्यक्ष राहुल, चाकसू शहर के मंडल अध्यक्ष पवन जी समेत सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे।