भाजपा नेता शैलेंद्र सिंह भदौरिया के अशोभनीय कृत्य का वीडियो वायरल

भिंड। राजनेताओं के बीच प्रतिद्वंद्विता, मनमुटाव और विवाद सामान्य बात हो सकती है, लेकिन मध्यप्रदेश के भिंड जिले में प्रतिद्वंद्विता के चलते भारतीय जनता पार्टी के एक स्थानीय नेता द्वारा जिले के ही एक अन्य नेता का पोस्टर फाड़कर सड़क पर फेंकने और फिर अत्यंत निम्न स्तर का अशोभनीय व्यवहार करने का वीडियो वायरल हुआ है। इसके बाद संबंधित नेता को पार्टी ने छह वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया है।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने इस घटना के प्रकाश में आने के बाद विधिवत पत्र जारी कर भिंड जिले के मेहगांव जनपद के उपाध्यक्ष शैलेंद्र सिंह भदौरिया को छह वर्ष के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। वायरल वीडियो बुधवार की देर रात का जिले के बरौठा टोल प्लाजा का है। यह घटना टोल प्लाजा के ही कैमरे में कैद हुई।

शैलेंद्र सिंह भदौरिया अपने वाहन में सुरक्षा गार्डों के साथ भिंड से ग्वालियर की तरफ जा रहे थे। टोल प्लाजा पर भाजपा के नवनियुक्त जिला अध्यक्ष देवेंद्र सिंह नरवरिया के पोस्टर लगे हुए थे। नए जिला अध्यक्ष का पोस्टर देख शैलेंद्र सिंह भदौरिया से रहा नहीं गया और उन्होंने अपने वाहन से उतरकर न सिर्फ पोस्टर निकाले, बल्कि उसे फाड़कर सड़क पर फेंक दिया। इसके बाद उन्होंने सभी सीमाओं को लांघकर वहीं पर पोस्टर के ऊपर पेशाब की। शर्म के चलते आसपास खड़े भदौरिया के सुरक्षा कर्मचारी भी अपना मुंह फेरते हुए वीडियो में दिखायी दे रहे हैं।

दरअसल प्रदेश भाजपा संगठन ने हाल ही में भिंड के जिला अध्यक्ष को बदला है। नाथू सिंह गुर्जर के स्थान पर देवेंद्र सिंह नरवरिया को जिलाध्यक्ष बनाया गया है। नवनियुक्त जिलाध्यक्ष के स्वागत में जगह-जगह पोस्टर लगाए गए थे। ऐसा ही एक पोस्टर भिंड जिले के मालनपुर के पास स्थित बरौठा टोल प्लाजा पर भी लगा हुआ था। तभी वहां से मेहगांव जनपद उपाध्यक्ष शैलेंद्र सिंह भदौरिया के गुजरने के दौरान यह वाकया हुआ।

भाजपा के नवनियुक्त जिला अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह नरवरिया ने वीडियो देखने के बाद आज कहा कि शैलेन्द्र सिंह भदौरिया ने जो किया, वह उनकी मानसिकता है। पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष ने उनकी इस हरकत को गंभीरता से लेकर पार्टी से 6 वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया है। वहीं वीडियो में पूरी घटना साफतौर पर दिखाई देने के बावजूद भदौरिया कुतर्कों के जरिए अपने बचाव का प्रयास कर रहा है।