MP भिंड : कोटा डैम से लगातार पानी छोडे जाने से चंबल में आई बाढ, 11 गांव खाली कराए गए

MP Bhind floods in Chambal due to release of water from Kota Dam, 11 villages evacuated
MP Bhind floods in Chambal due to release of water from Kota Dam, 11 villages evacuated

भिंड मध्यप्रदेश के भिंड में राजस्थान के कोटा बैराज डैम से लगातार चंबल नदी पर पानी छोडे जाने के चलते नदी उफान पर है। बाढ के हालात को देखते हुए जिले के अटेर और सुरपुरा क्षेत्र के ग्यारह गांव को खाली करा लिया गया है। वहीं सेना ने भी मोर्चा संभाल लिया है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार भिंड कलेक्टर छोटे सिंह, पुलिस अधीक्षक रूडोल्फ अल्वारेस ने अटेर-सुरपुरा के 11 गांवों को चिन्हित किया था। एक-एक गांव में लोगों को समझाइश देकर बताया, पानी बहुत ज्यादा आएगा। आप लोग गांव से सुरक्षति स्थानों पर चलें। इसके बावजूद ग्रामीण घर छोडने को तैयार नहीं हैं। काफी समझाइश के बाद कुछ ग्रामीण तैयार हुए। कल देर शाम तक करीब 500 महिलाएं, बच्चों और पुरुषों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है।

कलेक्टर छोटे सिंह व पुलिस अधीक्षक रूडोल्फ अल्वारेस ने चंबल नदी किनारे के अटेर और सुरसुरा 11 गांव चिन्हित कर लिए गए हैं। इन गांवों में पुलिस-प्रशासन के जवानों को तैनात करने का दावा किया गया है। कलेक्टर ने लोगों को समझाइश दी है कि यदि किसी तरह का खतरा हो तो रात में भी रेस्क्यू किया जाएगा। देर शाम ग्वालियर से सेना के 70 जवान अटेर पहुंचे है।

कलेक्टर-एसपी ने सेना को हाईरिस्क वाले गांवों का मुआयना करा दिया है, ताकि बाढ के ज्यादा हालात बने तो सेना तत्काल अपना काम शुरू कर देगी। चंबल नदी किनारे के गांवों में बाढ के हालात को देखते हुए कल चंबलरेंज के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) अशोक गोयल भी भिण्ड आ गए। डीआईजी ने भिण्ड के एडीशनल एसपी संजीव कंचन के साथ जायजा लिया है।

पुलिस अधीक्षक रूडोल्फ अल्वारेस ने बताया कि हमारी टीमें लगातार ग्रामीणों के संपर्क में हैं। सभी को सुरक्षति स्थानों पर आने के लिए कहा जा रहा है। चंबल पुल पर भी निगरानी बढ़वा दी है। बाढ़ के हालात को देखते हुए अतिरिक्त बल भी अटेर और सुरपुरा में तैनात किया गया है।