पुष्कर में सेन महाराज के पेनोरमा निर्माण के लिए भूमि पूजन

अजमेर। विश्व विख्यात तीर्थ नगरी पुष्कर में गुरूवार को सेन महाराज के पेनोरमा निर्माण का वैदिक मंत्रोच्चार के बीच शिलान्यास किया गया। सावित्री माता पहाड़ी की तलहटी में स्थित 3 बीघा भूमि पर 2 करोड़ की लागत से बनने वाले भव्य पेनोरमा का धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष ओंकार सिंह लखावत के मुख्य आतिथ्य में भूमि पूजन कर आधारशिला रखी गई।

इस मौके पर लखवात ने कहा कि सेन महाराज पेनोरमा हम सब के लिए प्रेरणा का केंद्र बनेगा। पेनोरमा में सेन महाराज की पांच फीट की मूर्ति होगी। इसके अलावा इसमें सेन महाराज के जीवन से जुड़ी जानकारियों को प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक, थ्रीडी सहित दूसरे माध्यम से आम लोगों तक पहुंचाने की व्यवस्था होगी। संसदीय सचिव सुरेशसिंह रावत ने भी पेनोरमा के पास सांस्कृतिक भवन बनाने की घोषणा की।

केश कला बोर्ड के अध्यक्ष मोहनलाल मोरवाल ने पेनोरमा के लिए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्राधिकरण के अध्यक्ष लखावत, संसदीय सचिव सुरेशसिंह रावत, पुष्कर पालिकाध्यक्ष कमल पाठक का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर राजगढ़ भैरव धाम के उपासक चंपालाल महाराज ने कहा कि पुष्कर में सेन महाराज का पेनोरमा बनना गौरव की बात है। एडीए के अध्यक्ष शिवशंकर हेड़ा ने लखावत को बधाई देते हुए उनकी कार्यशैली की जमकर तारीफ की। पालिकाध्यक्ष कमल पाठक ने बताया कि पेनोरमा के लिए नगर पालिका ने निशुल्क तीन बीघा जमीन दी है।

लखावत ने हाल में धरोहर प्रोन्नति प्राधिकरण के नवनियुक्त सदस्य कंवलप्रकाश किशनानी को जिम्मेदारी सौपी कि वे पेनोरमा के कार्य का प्राधिकरण के प्रतिनिधि के रूप में देखभाल करें। प्राधिकरण के सीईओ टीकम बोहरा ने बताया कि सरकार की और से यह 42वां पेनोरमा बनाया गया है। इससे पहले पंडित कैलाशनाथनाथ दाधीच के आचार्यत्व में पेनोरमा की आधारशिला रखी गई।

सेन समाज की और से सभी अतिथियों का स्वागत किया गया। इस दौरान प्रदेशभर से सेन समाज के प्रतिनिधि, भाजपा मंडल अध्यक्ष पुष्कर नारायण भाटी, पार्षद महेश पाराशर, भाजपा नेता अरुण वैष्णव, पवन राजगुरु, पूर्व पालिकाध्यक्ष सूरज नारायण पाराशर, सहित अनेक अधिकारी और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। समारोह का संचालन अजमेर नगर निगम के महापौर संपत सांखला ने किया।