माफी मांगना गडकरी का बड़प्पन है : ज्योतिरादित्य सिंधिया

Nitin Gadkari tenders apology to Jyotiraditya Scindia for not inviting in programme

होशंगाबाद। कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई में चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी की प्रशंसा करते हुए कहा है कि ये उनका बड़प्पन है कि उन्होंने सदन पटल पर माफी मांगी और नैतिकता का परिचय दिया है।

सिंधिया ने आज होशंगाबाद में मीडिया से चर्चा के दौरान यह टिप्पणी की। पिछले दिनों उनके संसदीय क्षेत्र गुना में गडकरी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शिवपुरी-देवास फोरलेन का लोकार्पण किया था। इस कार्यक्रम में नहीं बुलाने, आमंत्रण पत्र और शिलापट्टिका में उनका नाम नहीं होने पर सिंधिया ने आपत्ति जताई थी। इस पर गडकरी ने संसद में सिंधिया से माफी मांगी है।

सिंधिया ने पत्रकारों से चर्चा में गडकरी की तो तारीफ की, लेकिन चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि यह गलती उन्होंने (गडकरी ने) नहीं मुख्यमंत्री ने की है। प्रदेश और केंद्र सरकार में प्रजातंत्र को समाप्त करने की होड़ है। गुना के मंच पर कांग्रेस विधायक बोलने के लिए उठे, तो उनका माइक छीन लिया गया।

कांग्रेस नेता ने मुख्यमंत्री पर हमला जारी रखते हुए कहा कि वे जाति समुदाय की बात न करें। वे पिछड़े वर्ग के नहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। उन्हें वर्ग की बात करना है तो उनकी (सिंधिया की) बुआओं से करें, उनमें से एक उनके मंत्रिमंडल में मंत्री और दूसरी राजस्थान की मुख्यमंत्री हैं। वे सिर्फ ‘ज्योतिरादित्य सिंधिया’ और भारत के नागरिक हैं।

सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस यह चुनाव सत्ता हासिल करने के लिए नहीं लड़ रही है। यह कुर्सी की लड़ाई नहीं है। यह चुनाव मध्यप्रदेश की अस्मिता, भविष्य और नव निर्माण के लिए है। चुनाव मुख्यमंत्री और जनता का चुनाव है। इसमें श्री चौहान को जवाब देना है।

मध्यप्रदेश में इस वर्ष के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसे लेकर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस मैदान आमने-सामने हैं और लगातार एक-दूसरे पर प्रहार कर रहे हैं।