नीतीश की आपत्ति के बावजूद भाजपा विधायक कोटा से पुत्री को ले आए पटना

Bihar: BJP MLA brings back daughter from Kota in car amid lockdown

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के राजस्थान के कोटा में फंसे छात्रों को लाए जाने पर आपत्ति जताने के बावजूद नवादा जिले में हिसुआ से भारतीय जनता पार्टी के विधायक अनिल सिंह प्रशासन की अनुमति से कोटा से अपनी पुत्री को लेकर लौट आए हैं।

सिंह ने रविवार को बताया कि वह नालंदा जिला प्रशासन से विधिवत अनुमति लेकर कोटा गए थे। इसके बाद लॉकडाउन के कारण कोटा में फंसी अपनी पुत्री को लेकर सीधा पटना लौट आए। इस दौरान उन्होंने कोराेना संक्रमण से बचाव की सभी हिदायतों का पालन किया है। विधायक ने नवादा सदर के अनुमंडल पदाधिकारी से इस संबंध में आदेश प्राप्त किया था।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजस्थान के कोटा में फंसे छात्रों को वापस लाने के लिए बस भेजने के उत्तर प्रदेश सरकार के निर्णय के बाद बिहार में भी इसकी जोर पकड़ रही मांग पर शनिवार को कहा था कि अब कोई कहे कि कोटा में और देश के कोने-कोने में फंसे लोगों को बुलवा लिया जाए तो यदि उनकी मांग पर सभी राज्य उन्हें मंगाने लगे तो लॉकडाउन का मजाक उड़ जाएगा। हम पूरी तरह से प्रतिबद्ध है और सोशल डिस्टेंसिंग ही हम सबको बचा सकता है।