बगैर शोरगुल गांव-गांव, घर-घर पहुंचेगी मोदी सरकार : अमित शाह

BJP chief Amit Shah presents ‘report card’ on NDA govt’s 4 years

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने साफ किया कि अगले एक साल में देश के दलित एवं पिछड़े वर्ग बहुल हज़ारों गांवों के हर घर में केन्द्र सरकार की सात योजनाओं का शत प्रतिशत क्रियान्वयन के उपरांत ही वह लोकसभा चुनाव में वोट मांगने उतरेगी।

पार्टी ने दावा किया कि आम चुनावों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पक्ष में एकतरफा लहर होगी जो उसे 2014 की तुलना में अधिक बहुमत से जिताएगी।

भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने यहां 14 अप्रैल से पांच मई के दौरान चले ग्राम स्वराज अभियान की उपलब्धियों की जानकारी देने के लिए आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस साल 15 अगस्त के पहले देश के 65 हजार से अधिक गांवों में एक विशिष्ट कार्यक्रम के तहत ग्राम स्वराज अभियान को ले जाया जाएगा और इन गांवों के प्रत्येक घर में उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना, उजाला योजना, जनधन योजना, जीवनज्योति बीमा योजना, सुरक्षा बीमा योजना और मिशन इंद्रधनुष का शत-प्रतिशत लाभ सुनिश्चित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि 14 अप्रेल से पांच मई के बीच ग्राम स्वराज अभियान में 21844 गांवों में इस अभियान को चलाने का लक्ष्य रखा गया था लेकिन कर्नाटक में विधानसभा और पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनावों के कारण 16850 गांव ही इसमें शामिल किये जा सके। इसमें 484 जिले शामिल थे।

शाह ने कहा कि अब लक्ष्य रखा गया है कि 15 अगस्त 2018 तक विकास के मामले में पिछड़े देश के 115 आकांक्षी जिलों के सभी 45137 गांवों में भी ग्राम स्वराज अभियान चलाया जाएगा और इन गांवोें के हर घर को इन सात क्षेत्रों में समस्या से मुक्त किया जाएगा। कर्नाटक एवं पश्चिम बंगाल के बाकी के 4994 गांवों में भी इसे क्रियान्वित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अगले चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी के वोट मांगने जाने से पहले देश के हर गांव के हर घर में इन सातों योजनाओं का लाभ सुनिश्चित करने का प्रयास किया जायेगा। ग्राम स्वराज कार्यक्रम की कार्यप्रणाली का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि गरीब आवेदक ना बने, वे सरकार के पास नहीं जाएं बल्कि सरकार गरीबों के पास जाए। शोरगुल के बगैर हमने ऐसा काम अच्छे से किया है।

शाह ने बताया कि ग्राम स्वराज अभियान में भाजपा के सभी सांसदों, विधायकों, पार्षदों, जिला पंचायत सदस्यों और पार्टी पदाधिकारियों ने जनसंपर्क कार्यक्रम में हिस्सा लिया। ग्राम स्वराज अभियान के तहत कुल तीन लाख 68 हजार 978 कार्यक्रम हुए जिनमें एक करोड़ 28 लाख 72 हजार 468 लोगों ने भाग लिया, जबकि करीब 1200 अधिकारियों ने 484 जिलों में जाकर सात योजनाओं के क्रियान्वयन का जिम्मा संभाला। इन योजनाअों की निगरानी पोर्टल के माध्यम से की जा रही है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि ग्राम स्वराज अभियान में 10.93 लाख घरों में उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन दिये गये तथा पांच लाख 2434 घरों में सौभाग्य योजना के तहत बिजली मिली। उजाला योजना में 16682 गांवों में 25.3 लाख एलईडी बल्ब बांटे गये। जनधन योजना में बीस लाख 53 हजार 599 लोगों के बैंक खाते खाले गए।

जीवन ज्योति बीमा योजना में 16 लाख 14 हजार 388 लोगों और सुरक्षा बीमा योजना में 26 लाख 10 हजार 506 लोगों को जाेड़ा गया। इसी प्रकार से दो वर्ष के कम आयु के एक लाख 64 हजार 398 बच्चों और 42 हजार 762 गर्भवती महिलाअों का टीकाकरण किया गया।

उन्होंने कहा कि गांवों को समस्याओं से मुक्त करने के अभियान की उपलब्धि का बहुत बड़ा कार्यक्रम है। यह अभियान चरणबद्ध ढंग से नियमित रूप से चलाया जाएगा और देश के हर गांव को इन सातों समस्याओं से मुक्त किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि ग्राम स्वराज एक अनूठा कार्यक्रम रहा और इसकी सफलता से आगे और भी गांवों में इसके क्रियान्वयन को लेकर उत्साह बढ़ा है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि यह कोई राजनीतिक या चुनावी कार्यक्रम नहीं है। बल्कि सरकारी कार्यक्रम है, इसलिए गैर भाजपा शासित राज्यों में राज्य सरकारों से इसके क्रियान्वयन में पूरा सहयोग मिला।

उन्होंने इस कार्यक्रम के प्रचार से दूर रखने के बारे में पूछे जाने पर कहा कि जिस घर में बिजली पहुंची या गैस कनेक्शन मिला या फिर एलईडी बल्ब मिला, उसे तो पता चल ही गया।

विपक्ष द्वारा मोदी सरकार को दलित विरोधी साबित करने के प्रयासों के बारे में एक सवाल पर शाह ने कहा कि जिन गांवों को ग्राम स्वराज के लिए चुना गया है, उनमें दलितों की आबादी 40 प्रतिशत से अधिक है।

किसानों की नाराज़गी के बारे में पूछे जाने पर भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि विपक्ष को किसानों का मुद्दा उठाने की पूरी आज़ादी है, लेकिन मोदी सरकार ने किसानों के लिए बहुत कुछ किया है। आज कोई किसान नहीं कह सकता कि यूरिया की कमी है। सत्तर लंबित पड़ी सिंचाई परियोजनाओं को पूरा करने का बीड़ा उठाया है। फसल बीमा योजना, मृदा परीक्षण कार्ड, बाढ़ एवं सूखा राहत आदि कार्यक्रम में राहत राशि को बढ़ाया है।

आगामी चुनावों के बारे में एक सवाल पर शाह ने कहा कि अगले चुनाव में माहौल मोदी के पक्ष में रहेगा और जनता एकतरफा मोदी को जिताएगी। वर्ष 2019 में हम 2014 से अधिक बड़े बहुमत से सरकार बनाएंगे।