सिरोही सभापति व शिवगंज पालिकाध्यक्ष के प्रति भाजपा पार्षदों ने जताया असंतोष, बैठक बहिष्कार

sirohi muncipal councile meeting with nine counsiler

सबगुरु न्यूज-सिरोही। सिरोही नगर परिषद और शिवगंज नगर पालिका में वित्तीय वर्ष 2018-19 के बजट अनुमान पारित करने के लिए आयोजित बैठकों में निकाय प्रमुखों को अपनी ही पार्टी के पार्षदों का असंतोष झेलना पडा।

भाजपाइयों के साथ कांग्रेस के पार्षदों ने भी सहयोग करके निकाय प्रमुखों के खिलाफ अपना असंतोष जता दिया। सिरोही में तो एक निर्दलीय पार्षद की मान मनौवल करके कोरम पूरा कर लिया गया, लेकिन शिवगंज में पालिकाध्यक्ष यह भी करने में नाकाम रही और वहां पर कोरम के अभाव में बजट बैठक स्थगित कर दी गई।
भाजपा के पार्षदों का सिरोही सभापति ताराराम माली और शिवगंज की पालिका अध्यक्ष कंचन सोलंकी के साथ लम्बे अर्से से तनातनी चल रही है। शिवगंज में तो भाजपा पार्षदों ने पालिकाध्यक्ष के खिलाफ भाजपा पदाधिकारियों को ज्ञापन भी दिया हुआ है।

वैसे सिरोही सभापति का दावा है कि उन्होंने विकास कार्यों में कोई भेदभाव नहीं किया, इसके बाद भी कांग्रेस पार्षदों ने सोमवार को बजट बैठक से पहले नगर परिषद के गेट पर खडे होकर कांग्रेस और भाजपा के पार्षदों को बजट बैठक में आने से रोका। उनका आरोप था कि कि कांग्रेस पार्षद विकास चाहते ही नहीं हैं इसलिए अडंगा लगाते हैं।

Nagar Palika
Nagar Palika

-सिरोही में नौ और शिवगंज में आए 7 पार्षद
सिरोही और शिवगंज में 25-25 पार्षद हैं। सिरोही में भाजपा के 13 और शिवगंज में 17 पार्षद हैं और बहुमत है। बैठक का कोरम पूरा करने के लिए 9 पार्षदों की जरूरत रहती है। सिरोही नगर परिषद की बैठक में शुरू में सभापति और भाजपा के सात पार्षद ही थे।

इनमें शंकरसिंह परिहार, जीतू खत्री, रणछोड मगन मीणा, प्रकाश कुंवर, अमिया देवी और वार्ड संख्या चार की पार्षद शामिल थी। काफी देर बाद निर्दलीय पार्षद हिम्मत को शंकरसिंह और जीतू खत्री आदि सभागार में ले गए। वहां पहुंचते ही सबसे पहले उपस्थिति पंजिका में उसके हस्ताक्षर करवाकर बजट का पारित करवाया गया।

वहीं शिवगंज नगर पालिका में भाजपा की पालिकाध्यक्ष कंचन सोलंकी के अलावा शेष छह पार्षद और उपस्थित हुए। नियमानुसार अधिशासी अधिकारी भीमसिंह देवल ने बैठक के समय से एक से सवा घंटे तक कोरम पूरा होने के लिए शेष पार्षदों को इंतजार किया।

कोई पार्षद नहीं आया तो उन्होंने बैठक कोरम के अभाव में बिना बजट पास किए ही खतम कर दी। वैसे नगर पालिका के द्वारा बनाए गए बजट को उन्होंने बोर्ड का कोरम पूरा नहीं होने के कारण बोर्ड में पारित नहीं होने की नोटिंग के साथ राज्य सरकार को भेज दिया है।

-नहीं आए ये पार्षद
बजट बैठक में नेता प्रतिपक्ष ईश्वरसिंह डाबी, कांग्रेस पार्षद जितेन्द्र सिंघी, मारूफ हुसैन, पिंकी रावल, महेन्द्र मेवाडा, गोपी मेघवाल, नैनाराम माली, सीतादेवी समेत कांग्रेस के आठ पार्षद नहीं आए। इनके अलावा भाजपा के प्रवीण राठौड, विरेन्द्र एम चैहान, लता पटेल, दुर्गा कंसारा, मीनाक्षी प्रजापत तथा निर्दलीय सूकीदेवी व शैतानराम भी नहीं पहुंचे। उपसभापति धनपतसिंह पहले ही अनुपस्थित थे।
-सिरोही में 60.70 करोड का बजट अनुमान पेश
सिरोही नगर परिषद में वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए 60.70 लाख रुपये का बजट अनुमान प्रस्तुत किया गया। हर मद में नियमानुसार पिछले वित्तीय वर्ष के बजट अनुमान में दस प्रतिशत की वृद्धि करते हुए इस वर्ष का बजट तैयार किया गया है। इसमें से सिरोही शहर की सडकों, सफाई और बिजली के लिए करीब 4.80 करोड रुपये का ही बजटीय प्रावधान है। शेष राशि तनख्वाह, पेंशन, कार्यालय रखरखाव व प्रशासनिक व्यवस्था में खर्च किए जाने का प्रावधान किया गया है।
इनका कहना है…
कोरम के लिए 25 में से 9 पार्षदों की उपस्थिति जरूरी है। बजट बैठक में सिर्फ 7 ही पार्षद आए। नियमानुसार एक घंटे इंतजार के बाद बैठक को कोरम के अभाव में निरस्त कर दिया गया। बजट को नोटिंग के साथ राज्य सरकार को भेज दिया गया है।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो