भाजपा को अब मित्र की जरुरत नहीं : उद्धव ठाकरे

BJP does not need its friend and allies anymore : Uddhav Thackeray
BJP does not need its friend and allies anymore : Uddhav Thackeray

मुंबई। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पालघर लोकसभा सीट के उप चुनाव में पार्टी की हार के बाद भारतीय जनता पार्टी पर तीखा हमला करते हुए गुरुवार को कहा कि उसे अब मित्र की जरूरत नहीं रह गई है।

ठाकरे ने विभिन्न राज्यों में चार लोकसभा सीटों के उपचुनाव परिणाम घोषित होने के बाद संवाददाताओं से कहा कि भाजपा ने लोकसभा में अपना बहुमत खो दिया है और पार्टी ने पालघर सीट पर धन के बलबूते जीत हासिल की है।

पालघर में उपचुनाव के गुरुवार को आए परिणाम में भाजपा उम्मीदवार राजेंद्र गावित ने शिव सेना उम्मीदवार श्रीनिवास चिंतामन वनगा को 29 हजार 574 मतों से हराया है।

ईवीएम में आई दिक्कतों के लिए शिवसेना प्रमुख ने चुनाव आयोग को भी घेरते हुए कहा कि उसके खिलाफ भी भ्रष्ट तंत्र के लिए मामला दर्ज किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि चुनाव आयोग किसी दल के पक्ष में काम करने लगे तो लोकतंत्र खतरे में पड़ जाता है।

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग में जिस तरह से भ्रष्टाचार है उसे देखते हुए उनका सुझाव है कि चुनाव आयुक्त को नियुक्त करने की बजाए उसका चयन चुनाव के माध्यम से किया जाना चाहिए।

भाजपा पर धन के बूते चुनाव जीतने का आरोप लगाते हुए ठाकरे कहा कि मतदान से एक दिन पूर्व भाजपा कार्यकर्ताओं को अपने पक्ष में मतदान करने के लिए पैसे बांटते हुए देखा गया था। उन्होंने कहा कि उपचुनाव में शिव सेना हार गयी लेकिन देखा जाए तो 2014 की तुलना भाजपा को मिलने वाले वोट कम हुए हैं, साठ प्रतिशत लोगों ने भाजपा को पसंद नहीं किया और नकार दिया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उपचुनाव में प्रचार पर आने और शिवाजी के नाम पर शिवसेना पर हमला करने को लेकर ठाकरे नाराज दिखे। उन्होंने पालघर की जनता को शिवसेना को बड़ी संख्या में वोट देने के लिए धन्यवाद दिया।