योगी आदित्यनाथ अयोध्या से, केशव मौर्य सिराथू से लड़ सकते हैं चुनाव

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की आज यहां हुई बैठक में 172 सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा हुई।

बैठक में इस बात पर फैसला हुआ कि विधानपरिषद सदस्य योगी आदित्यनाथ, केशव मौर्य और दिनेश शर्मा इस बार विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। सूत्रों के अनुसार आदित्यनाथ के अयोध्या से चुनाव लड़ना लगभग तय है। इसके अलावा मौर्य कौशाम्बी के सिराथू निर्वाचन क्षेत्र और शर्मा लखनऊ की किसी सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। ऐसी खबर है कि विधान परिषद सदस्य और भाजपा उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।

सूत्रों के मुताबिक बड़े नामो में ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा को मथुरा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र पंकज सिंह नोएडा, सरधना से संगीत सोम और थाना भवन से सुरेश राणा और कैराना से मृगांका सिंह के नाम तय किए गए हैं।

इस बैठक के बारे में जानकारी देते हुए उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री मौर्य ने संवाददाताओं को बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में 172 सीटों को लेकर सार्थक चर्चा हुई। मौर्य ने दावा किया कि इस बार भी भाजपा को उत्तर प्रदेश में शानदार जीत मिलने जा रही है। उन्होंने कहा कि 2017 में जैसी विजय भाजपा को मिली थी, उससे भी कहीं ज्यादा शानदार जीत 2022 में भाजपा को मिलने जा रही है।

इस बैठक में मोदी के अलावा भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने आभासी माध्यम से भाग लिया। यह तीनों वरिष्ठ नेता कोरोना संक्रमित हैं।

वहीं गृहमंत्री अमित शाह, संगठन महामंत्री बी एल संतोष, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान, उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्या तथा उत्तर प्रदेश के संगठन मंत्री सुनील बंसल समेत चुनाव समिति के कई सदस्य प्रत्यक्ष तौर पर मौजूद रहे।

पहले दूसरे और तीसरे चरण के प्रत्याशियों के नामों का पैनल आज होने वाली केंद्रीय चुनाव समिति के समक्ष रखा गया। माना जा रहा है कि इस बैठक में गठबंधन सहयोगी पार्टियों अपना दल और निषाद पार्टी के साथ सीटों के बंटवारे और विधानसभा क्षेत्रों को लेकर सहमति भी बनी है।

सूत्रों के मुताबिक इन सीटों पर उम्मीदवारों के नामों को लगभग तय कर दिया गया है और एक दो दिन में पार्टी उम्मीदवारों की अपनी पहली सूचि जारी कर सकती है। चुनाव आयोग द्वारा घोषित कार्यक्रम के अनुसार राज्य में पहले चरण में 10 फरवरी को 58 सीटों पर, दूसरे चरण में 14 फरवरी को 55 सीटों पर और तीसरे चरण में 20 फरवरी को 59 सीटों पर मतदान होना है। पहले तीनों चरण में कुल मिलाकर 172 सीटों पर चुनाव होना है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भाजपा की पहली सूची में पहले और दूसरे चरण में चुनाव वाली सीटों के उम्मीदवारों के नाम का ही ऐलान किया जाएगा। पहले और दूसरे चरण में कुल मिलाकर 113 सीटों पर चुनाव होना है। भाजपा अपनी पहली लिस्ट में लगभग 95 उम्मीदवारों के नाम का एलान कर सकती है। अन्य प्रतिद्वंद्वी दलों की ओर से उम्मीदवारों के नाम स्पष्ट हो जाने के बाद भाजपा अपनी रणनीति के तहत बची हुई 18 सीटों पर प्रत्याशियों के नामों का ऐलान करेगी।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी के पहले चरण की 58 सीटों पर मतदान के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 21 जनवरी और 14 फरवरी को दूसरे चरण की 55 सीटों पर मतदान के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 28 जनवरी है। इससे पहले मंगलवार और बुधवार को उत्तर प्रदेश चुनाव की रणनीति और उम्मीदवारों के चयन को लेकर मैराथन बैठक हुई थी।

वहीं अपना दल की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल व निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद और उनके पुत्र प्रवीण निषाद ने बुधवार रात गृहमंत्री शाह से मिलकर सीटों के बंटवारे पर बातचीत की थी।