किसान मोर्चा सम्मेलन, योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचाने का आह्वान

सिरोही में भाजपा किसान मोर्चा के महासम्मेलन में उपस्थित कृषक
सिरोही में भाजपा किसान मोर्चा के महासम्मेलन में उपस्थित कृषक।

सबगुरु न्यूज-सिरोही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में केंद्र सरकार ने आजादी के बाद पहली बार कृषि सुधारों की प्रक्रिया को बढ़ाकर छोटे व मध्यम किसानों की चिंता करके उनके हित में कानून बनाया है।

 

इससे देश के मध्यम व छोटे किसानों को भी अब योजनाओ का लाभ मिलेगा। भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष हरिराम रणवा ने मोर्चा के जिला स्तरीय किसान महासम्मेलन में बड़ी तादाद में उमड़े किसानों व भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह बात कही।

स्थानीय स्वामीनारायण मंदिर सभागार में गुरुवार उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष रिणवा ने कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाया कि खुद कांग्रेस की सरकारे पहले कहती थी कि कृषि सुधार करना आवश्यक है वो अब पलट रहे हैं उन्हें किसानों की फिक्र नहीं है। रणवा ने केंद्र की मोदी सरकार की 7 साल की उपलब्धियों से सभी को अवगत कराया।

मोर्चा के राष्ट्रीय मंत्री सेलाराम चारण ने कहा कि मोदी सरकार ने फसल बीमा का दायरा बढाकर जो लाभ पहले छोटे किसानों को नहीं मिल पाता था। मोर्चा के प्रदेश महामंत्री ओपी यादव ने आने वाले दिनों में किसान मोर्चा की भूमिका और कार्यों के बारे में विस्तार से बताया। यादव ने किसान मोर्चा को गांव, गली ढाणी, चौपाल तक ले जाकर किसानों के हित में लिए जा रहे फैसलों और किसानों की समस्याओं के निदान में सहयोगी बनने का आग्रह किया।

मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष हेमाराम चौधरी ने बताया कि मोदी सरकार द्वारा मंडियों को मजबूत करने की दिशा में ऐतिहासिक कदम उठाए जा रहे हैं। इसी प्रकार किसान नेता घेवाराम बिश्नोई ने कहा कि देश में किसान सम्मान निधि योजना के तहत करीब 10 करोड़ किसानों को इसका लाभ मिला है। भाजपा जिलाध्यक्ष नारायण पुरोहित ने  गहलोत सरकार को किसान विरोधी बताया।

रेवदर विधायक जगसीराम कोली ने कथित किसान आंदोलन करने वाले लोग लोगों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वो आंदोलन भटक गया है इनको देश के किसान का कोई समर्थन नहीं है वो किसानों के नाम पर केवल गुमराह कर रहे हैं।

आबू- पिंडवाड़ा विधायक समाराम गरासिया में कांग्रेस के लोगों द्वारा एमएसपी खत्म करने के भ्रम फैलाने को उनका दुष्प्रचार बताया और कहा कि एमएसपी है और आगे भी रहेगी। पूर्व राज्य मंत्री ओटाराम देवासी ने सभी को एकजुट होकर राज्य कांग्रेस सरकार की किसान विरोधी एवं जन विरोधी नीतियों का विरोध करने की हुंकार भरी।

किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष गणपतसिंह राठौड़ ने राज्य कांग्रेस सरकार पर कर्ज माफी मे वादाखिलाफी करने पर आने वाले दिनों में किसान हित में सड़कों पर उतरने की बात कही। पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष तारा भंडारी ने बड़ी तादाद में सम्मेलन में आए किसानों से मुखातिब होकर कहा कि किसानों की सच्ची हितैषी भारतीय जनता पार्टी ही है और कार्यकर्ता किसान कल्याण की योजनाओं से किसानों को लाभ दिलाएं।

इसी क्रम में जिला प्रमुख पायल परसरामपुरिया, लुंबाराम चौधरी, कमलेश दवे, दिलीप सिंह मांडाणी आदि ने भी संबोधित किया। मंच पर किसान मोर्चा के प्रदेश कोषाध्यक्ष दीपक कुमावत, प्रदेश मीडिया प्रभारी गौरी कुमावत, जिला महामंत्री जयसिंह राव, पूर्व जिला महामंत्री एडवोकेट वीरेंद्रसिंह चौहान, सिरोही शहर मंडल अध्यक्ष लोकेश खंडेलवाल, महिला मोर्चा प्रदेशमंत्री रक्षा भंडारी, मोर्चा जिलाध्यक्ष अंशु वशिष्ठ, किसान नेता जीवनसिंह रायपुर, नरपतसिंह राणावत आदि भी मौजूद रहे।

कार्यक्रम में भाजयुमो जिलाध्यक्ष गोपाल माली, एससी मोर्चा जिलाध्यक्ष भंवरलाल मेघवाल, ओबीसी मोर्चा जिलाध्यक्ष पवन घांची, किरण राजपुरोहित, नारायण देवासी, छगनलाल पटेल, नारायणसिंह देलदर, महावीर यति, गणेश पुरोहित, लीलाराम प्रजापत, हिम्मत पुरोहित, सुरेश सगरवंशी, अशोक पुरोहित, महिपालसिंह चारण, कानाराम चौधरी, नैनसिंह पुरोहित, रतनलाल प्रजापत, कानसिंह, हीरालाल शामिल थे।

नेमाराम, करणसिंह राव, दीपेंद्रसिंह पीथापुरा, सुजानसिंह वडवज, अजीतसिंह निंबोड़ा, महिपालसिंह जसोल, हरीसिंह रेवदर, ईश्वरसिंह थल, रमेशसिंह, पार्षद गोविंद माली, प्रवीण राठौड़, गीता पुरोहित, मणिबाई माली, महेंद्र माली,दक्षा देवड़ा, हेमलता पुरोहित, रेनू वर्मा, मीना खंडेलवाल, उषा गहलोत, प्रकाश रावल, मगनलाल मीणा, लुंबाराम राणा, अजय भट्ट, जितेंद्र गर्ग, अमन प्रजापत, गोविंदसिंह बारड़, ललित प्रजापत, कपूराराम पटेल, राहुल रावल, हार्दिक देवासी सहित बड़ी संख्या मे किसान सम्मेलन में भाजपा पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं कार्यकर्ता बड़ी उपस्थित थे।

अतिथियों का किसान मोर्चा की ओर से साफा, तलवार, माला, दुपट्टा आदि से स्वागत किया गया। कार्यक्रम का संचालन भाजयुमो के पूर्व जिलाध्यक्ष हेमंत पुरोहित एवं अमरसिंह ने किया। सम्मेलन के बाद जिला कलेक्टर के नाम किसान हित में राज्य सरकार की फसल बीमा योजना की अंतिम तिथि को बढ़ाने की मांग एवं अन्य समस्याओं का ज्ञापन दिया गया।