भवानीपुर विधानसभा उपचुनाव प्रचार के दौरान दिलीप घोष पर हमला

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में भवानीपुर उपचुनाव के प्रचार के आखिरी दिन भारतीय जनता पार्टी ने तृणमूल कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हमला करने का आरोप लगाया। हमले में भाजपा का एक कार्यकर्ता भी घायल हुआ है जबकि चुनाव आयोग ने इस घटना पर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है।

भवानीपुर में प्रचार के दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष पर आज हमला हुआ। जिसमें घोष के सुरक्षाकर्मियों को हवा में बंदूक लहराकर हमलावरों की भीड़ को खदेड़ते हुए देखा गया है जो भाजपा विरोधी नारेबाजी कर रहे थे।

भाजपा कार्यकर्ताओं और घोष ने आरोप लगाया कि उन पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हमला किया जो उनके खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। हमले में पार्टी का एक कार्यकर्ता घायल हो गया उसके शरीर से खून निकलता दिखाई दे रहा था।

पार्टी सांसद अर्जुन सिंह को भी कुछ बाधाओं को सामना करना पड़ा जब वह भवानीपुर निर्वाचन क्षेत्र में पार्टी उम्मीदवार प्रियंका टिबेरवाल के चुनाव अभियान के लिए निर्वाचन क्षेत्र का दौरा कर रहे थे।

भवानीपुर निर्वाचन क्षेत्र में कुल 2,06,389 मतदाता हैं और आठ नगर निकाय वार्ड बनाए गए हैं। उपचुनाव में तृणमूल कांग्रेस, भाजपा और माकपा के उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतरे हैं जबकि कांग्रेस इस सीट से चुनाव नहीं लड़ रही है।

गौरतलब है कि मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय गत मार्च-अप्रैल में हुए विधानसभा चुनाव में इस सीट से चुनाव जीते थे लेकिन उन्होंने इस सीट को बनर्जी के लिए छोड़ दिया है, ताकि मुख्यमंत्री यहां से चुनाव लड़ सकें।

बनर्जी पूर्वी मिदनापुर जिले के नंदीग्राम सीट पर सुवेंदु अधिकारी से चुनाव हार गई थी। बनर्जी को मुख्यमंत्री बने रहने के लिए छह महीने की अवधि में फिर से किसी भी सीट से चुनाव जीतना अनिवार्य है। वह अपनी पुरानी सीट भवानीपुर से चुनाव लड़ रही हैं।