वाराणसी में भाजपा नेता की पीट पीट कर हत्या, बेटा घायल, 5 आरोपी अरेस्ट

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में शराब की दुकान के पास हंगामा करने से कुछ अराजक तत्वों को रोकने पर भारतीय जनता पार्टी के एक बुजुर्ग नेता को इतना पीटा गया कि उनकी मौत हो गई और बीच बचाव करने आया उनका बेटा गंभीर रूप से घायल हो गया।

पुलिस ने गुरुवार को बताया कि नगर के सिगरा पुलिस थाना क्षेत्र में बीती देर रात हुई इस वारदात के बाद पांच आरोपियों काे गिरफ्तार कर पुलिस चौकी प्रभारी तथा दो दरोगा सहित 10 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

प्राप्त जाकारी के अनुसार भाजपा नेता पशुपति नाथ सिंह (71 साल) सिगरा थाना क्षेत्र में जेपी नगर कालोनी में रहते हैं। उनके घर के पास स्थित शराब और बीयर की दुकान पर बीती रात नशे में उत्पात मचा रहे कुछ युवकों को रोकने पर इन लोगों ने सिंह को बुरी तरह से पीट दिया। बीच बचाव करने आए उनके पुत्र राजन (45 साल) की भी इन लोगों ने पिटाई कर दी। जिससे बुरी तरह घायल होने पर सिंह की मौत हो गई और राजन गंभीर रूप से घायल हो गया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि विवाद होने पर उपद्रवी युवक पहले तो वहां से चले गए और कुछ देर बाद 30 से 40 लोगों के साथ वापस लौट कर सिंह को घर से बाहर बुलाकर उन पर जानलेवा हमला कर दिया। लाठी डंडों से लैस हमलावर लोगों ने बीच बचाव करने आए उनके पुत्र को भी पीट दिया। सिंह की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि राजन को बीएसयू ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने कहा कि राज्य सरकार और पुलिस महानिरीक्षक ने इस वारदात को गंभीरता से लेते हुए अभियुक्तों की धरपकड़ तेज कर दी है। उन्हाेंने बताया कि मृतक के पुत्र ने सिगरा पुलिस थाने में 17 लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है।

गणेश ने बताया कि वारदात में शामिल 5 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इनसे पूछताछ की जा रिही है। अन्य वांछितों की तलाश के लिए पुलिस की पांच टीमें गठित की गई हैं। संबद्ध थाना क्षेत्र के दो दरोगा और चौकी प्रभारी सहित 10 पुलिसकर्मियों को इलाके के अराजक तत्वों के खिलाफ लचर रवैया अपनाने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है।