चुनाव में हारी कांग्रेस मना रही जीत का जश्न, भाजपा ने कसा तंज

BJP leader prakash Javadekar mocks Rahul Gandhi for claiming victory after Yeddyurappa resigns as karnataka CM

बेंगलुरु। भारतीय जनता पार्टी ने कर्नाटक में बीएस येद्दियुरप्पा के मुख्यमंत्री पर से इस्तीफे उच्च लोकतांत्रिक परम्पराओं के अनुरुप करार देते हुए शनिवार को कहा कि कांग्रेस और जनता दल (एस) का गठबंधन अवसरवादी है और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा पार्टी के शीर्ष नेताओं पर लगाए गए आरोप पूरी तरह निराधार है।

भाजपा के कर्नाटक के चुनाव प्रभारी एवं केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने यहां संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि कांग्रेस ने कर्नाटक में अपने भ्रष्टाचार के मामलों की जांच नहीं कराने को लेकर जनता दल (एस) से गठबंधन किया है। यह सिद्धान्तहीन गठबंधन है।

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और जनता दल (एस) ने एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ा और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जनता दल (एस) प्रमुख एचडी देवगौड़ा के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणियां की थी लेकिन दलगत हितों पर उन्होंने सरकार बनाने के लिए गठबंधन कर लिया।

उन्होंने कहा कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येद्दियुरप्पा ने उच्च लोकतांत्रिक मूल्यों का सम्मान करते हुए अपने पद से इस्तीफा दिया है। कांग्रेस की चुनाव में हार हुई थी लेकिन वह अपनी हार को जीत के रुप में मना रही है।

कर्नाटक में पहले कांग्रेस के 122 विधायक थे जो इस चुनाव में घटकर 78 हो गए। उसके मुख्यमंत्री सिद्धरमैया एक सीट पर चुनाव हार गए जबकि एक पर जैसे तैसे जीत गए। जनता दल (एस) की सीटें भी 40 से घटकर 38 हो गई। दूसरी ओर भाजपा के पास 40 सीट थी जो इस चुनाव में बढकर 104 हो गई।

जावड़ेकर ने कहा कि गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है जबकि वास्तविकता यह है कि कांग्रेस भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं करती। असल में वह यह आरोप इसलिए लगा रही है क्योंकि उसे एक गरीब परिवार के बेटे का प्रधानमंत्री बनना पच नहीं रहा है। कांग्रेस के शासन में ही ही टू जी घोटाला, कोयला घोटाला और राष्ट्रमंडल खेल जैसे घोटाले हुए थे।

उन्होंने कहा कि गांधी भाजपा पर मीडिया समेत विभिन्न संस्थाओं को नष्ट करने का आरोप लगा रहे हैं । उन्होंने संवाददाताओं से ही सवाल किया कि मीडिया पर कौन सा बंधन है। भाजपा नेता ने कहा कि कांगेस ने ही आपातकाल के दौरान मीडिया पर सेंसर लगाया था।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का उच्चतम न्यायालय को दबाने का आरोप भी गलत है और उसे खुद ही चुनाव आयोग पर भी विश्वास नहीं है। देश के नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) ने कोयला घोटाला उजागर किया था जिसे वह भाजपा का एजेंट बताती रही है।

जावड़ेकर ने कहा कि कर्नाटक के राज्यपाल ने नियम के अनुसार सबसे बड़ी पार्टी के नेता को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि जनता दल (एस) नेता कुमार स्वामी ने चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस के भ्रष्टाचार को उजागर करने और भ्रष्टाचार में लिप्त नेताओं को जेल में डालने की बात कही थी। उन्हें अब ऐसा करके दिखाना चाहिए लेकिन सत्ता में रहने के लिए वह ऐसा नहीं करेंगे।