शिवगंज नगर पालिका में भाजपा पार्षदों में हाथापाई, विधायक लोढ़ा के खिलाफ नारेबाजी

शिवगंज नगर पालिका में भाजपा पार्षदों के आपस में उलझने पर मचा हडक़म्प।
शिवगंज नगर पालिका में भाजपा पार्षदों के आपस में उलझने पर मचा हडक़म्प।

सबगुरु न्यूज-शिवगंज। बजट को लेकर शिवगंज नगर पालिका में गुरुवार को आयोजित बजट बैठक में भाजपा पार्षदों में हाथापाई हो गई। मामला इतना तूल पकड़ा कि पिटने वाले पार्षद के समर्थक नगर पालिका के बाहर एकत्रित हो गए। इस पर पुलिस ने हाथापाई करने वाले दूसरे दो पार्षदों को बाहर निकाला।

भाजपा पार्षद समर्थक पालिका के बाहर पार्षदों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने की मांग करते रहे। इन लोगों ने विधायक संयम लोढ़ा के खिलाफ नारेबाजी भी की। पुलिस हाथापाई करने वाले दोनों पार्षदों को थाने ले आई।

प्रशासन ने शिवगंज समेत पालड़ी-एम थाने का जाब्ता भी तैनात करवा दिया है। शिवगंज थानाधिकारी राजेन्द्रसिंह राजपुरोहित ने बताया कि मारपीट करने वाले दोनों पार्षदों का शांतिभंग में गिरफ्तार कर लिया।
शिवगंज नगर परिषद में भाजपा पार्षद ही दो खेमों में बंटे हुए हैं। एक पालिका उपाध्यक्ष कंचन सोलंकी समर्थक खेमा। दूसरा उपाध्यक्ष मनीष सर्राफ के समर्थकों का। बजट बैठक में बजट की प्रतिलिपि समय पर नहीं भेजने और इसे नहीं पढ़ा पाने को लेकर यह बहस शुरू हुई।

अधिशासी अधिकारी सुरेश जीनगर ने कहा कि समय पर प्रतिलिपि भेजी थी, लेकिन इसे नहीं पढ़ पाए तो इसे लेकर चर्चा कर लेंगे। इसे लेकर पालिकाध्यक्ष पर पार्षद ने काले कारनामे छिपाने का आरोप भी लगाने लगे। इस पर पालिकाध्यक्ष ने ऐसे लोगों के आरोपों को पूरी तरह नकार दिया। इस बीच भाजपा पार्षद लक्ष्मण परिहार भी पालिकाध्यक्ष के समर्थन में बोलने लगे।

उनकी भाजपा पार्षद अशोक कुमावत और रमेश उर्फ गोटू सोनी से बहस होने लगी। एक पार्षद ने कुर्सी उछाली। इसी दौरान एक पार्षद असंसदीय शब्द बोलने का आरोप लगाते हुए लक्ष्मण परिहार की तरफ बढ़ा। परिहार के पास पहुंच कर उनके साथ हाथापाई कर दी।

इससे परिहार गिर गए। बाद में दूसरे भाजपा पार्षदों ने उनका बीचबचाव किया। हाथापाई के बाद पालिकाध्यक्ष ने बैठक को स्थगित करने की घोषणा की ओर अपने समर्थक पार्षदों के साथ बाहर आ गई।
-फिर शुरू करने की कवायद
पालिकाध्यक्ष के बैठक को स्थगित करके चले जाने के बाद भी बैठक का कोरम पूरा था। इस पर उप पालिकाध्यक्ष सर्राफ की अध्यक्षता में बैठक फिर से शुरू करने पर बात हुई। लेकिन, तब तक शहर में परिहार समर्थकों व भाजपाइयों को उनके साथ हाथापाई होने की सूचना मिल गई थी और लोग नगर पालिका के बाहर एकत्रित होने लगे थे।

बाहर परिहार समर्थक हाथापाई करने वाले पार्षदों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाने और गिरफ्तारी की मांग करने लगे। बाहर हंगामा तेज हुआ तो पुलिस को बुलवाया गया और बैठक को स्थगित किया गया।
-विधायक पर भी हुए नाराज
नगर पालिकाओं में सांसद और उस क्षेत्र के विधायक आमंत्रित सदस्य होते हैं। ऐसे में विधायक संयम लोढ़ा भी शिवगंज नगर पालिका की बैठक में पहुंचे थे। पालिकाध्यक्ष के अनुसार उनका वहां स्वागत भी किया गया। हंगामे के बाद जब वह बाहर निकले तो परिहार समर्थक उन पर नाराजगी जताने लगे।

लोढ़ा ने कहा कि यह भाजपा के पार्षद आपस में लड़े हैं इसमें उनका कोई लेना-देना नहीं। उनकी बात से परिहार समर्थक सहमत नहीं होते दिखे। माहौल बिगडते देख पुलिस ने लोढ़ा और को प्रोटेक्शन देने को भी कहा। इसी बीच एक महिला हाथ में कुछ लेकर भी भीड़ में से निकलती दिखी। जिसे महिला पुलिसकर्मी ने किनारे कर दिया।

फिर एकाएक विधायक लोढ़ा भी पुलिस प्रोटेक्शन नहीं लेने की बात कहते हुए निकल पड़े। पुलिस उन्हें घेरे रही। उनके खिलाफ नारेबाजी भी की तो कुछ लोगों ने भीड में धक्कामुक्की करने भी कोशिश करते दिखे। विधायक ने बाहर निकल कर भाजपा पार्षद के गाली-गलौच पर भाजपा पार्षदों द्वारा मारपीट पर भाजपा पालिकाध्यक्ष के सभा स्थगित करने के बाद कथित रूप से भाजपा के कार्यकर्ताओं द्वारा नगर परिषद के बाहर हंगामा करने पर नाराजगी जताई।

बाद में वह गाड़ी की बजाय पैदल ही अपने समर्थकों के साथ परिहार वहां से निकले। दरअसल, जिन भाजपा पार्षदों पर परिहार से हाथापाई का आरोप लग रहा है उन पर विधानसभा चुनावों में संयम लोढ़ा का सहयोग करने का भी आरोप लगा है। ऐसे में नगर पालिका के स्थायी आमंत्रित सदस्य होने के नाते विधायक लोढ़ा के वहां पहुंचने और बैठक में हाथापाई होने से परिहार समर्थक यह आरोप लगा रहे हैं कि यह हाथापाई पूर्व नियोजित षड्यंत्र है।
-शांतिभंग में दो पार्षद गिरफ्तार
शिवगंज थानाधिकारी राजेन्द्रसिंह राजपुरोहित ने बताया कि मारपीट की सूचना आने के बाद दो पार्षदों को शांतिभंग में गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल कोई रिपोर्ट नहीं मिली है। मारपीट में घायल पार्षद को उपचार के लिए शिवगंज चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है। भाजपा के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष भी चोटिल पार्षद से मिलने पहुंचे।
-इनका कहना है…
बैठक स्थगित कर दी गई है। कोई भी प्रस्ताव पारित नहीं किया गया।
सुरेश जीनगर
अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका, शिवगंज।
दो पार्षदों द्वारा मेरे साथ मारपीट करने की शिकायत अभी भेज दी है।
लक्ष्मण परिहार, पीडि़त पार्षद।

देखेन विडियो….