वासुदेव देवनानी ने की बोर्ड अध्यक्ष डीपी जारोली को बर्खास्त करने की मांग

अजमेर। राज्य के पूर्व शिक्षा मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी विधायक वासुदेव देवनानी ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. डीपी जारोली को नाकारा अध्यक्ष बताते हुए राज्य सरकार से उन्हें बर्खास्त करने की मांग की है।

अजमेर उत्तर विधायक देवनानी ने आज सोशल मीडिया के जरिए यह मांग की। उन्होंने कहा कि जारोली की सोमवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस पर कहा कि बोर्ड अध्यक्ष का पद संवैधानिक पद है। इस पद पर रहकर राजनीतिक टिप्पणी पूरी तरह अमर्यादित एवं असंवैधानिक है।

उन्होंने कहा कि जारोली के कार्यकाल में बोर्ड कार्यालय अप्रासंगिक रहा है। बोर्ड से जुड़ी परीक्षाओं पर फैसला राज्य सरकार लेती रही और बोर्ड अध्यक्ष विज्ञापन देने की एजेंसी जैसी भूमिका निभाते रहे। वह न परीक्षा शुल्क पर फैसला ले पाए न ही परीक्षा रद्द करने पर।

देवनानी ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डा़ सतीश पूनियां पर नौसिखिया खिलाड़ी कहने पर भी तीखी प्रतिक्रिया करते हुए कहा कि वह अपने शिक्षा मंत्री के चुनाव की चिंता करें।

उल्लेखनीय है कि रीट पेपर लीक मामले में बोर्ड अध्यक्ष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पर्चा लीक होने की बात स्वीकार की और कहा कि प्रश्नपत्र केवल चार व्यक्तियों के बीच में था जो बोर्ड कार्यालय से लीक नहीं हुआ। जारोली ने डा पूनियां एवं भाजपा सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा के बयानों पर भी टिप्पणियां की।