किरोड़ी लाल मीणा ने राजगढ़ में मंदिर तोड़ने के विरोध में दिया धरना

अलवर। राजस्थान में अलवर जिले के राजगढ़ में मास्टर प्लान के तहत तोड़े गए प्राचीन मंदिरों दुकानों एवं घरों के विरोध का मामला बढ़ता जा रहा है और भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा शुक्रवार रात से राजगढ़ में धरने पर बैठेे हैं।

मीणा ने इस मामले की न्यायिक जांच करने की मांग की है वही आज राजगढ़ कस्बे के सभी बाजार बंद करने का निर्णय लिया गया है और सभी व्यापारी इस घटना के विरोध में दिए जा रहे धरने में शामिल होंगे।

राजगढ़ व्यापार मंडल अध्यक्ष बंसत गुप्ता ने बताया कि सराय बाजार में मास्टर प्लान के तहत तोड़े गए दुकान, मकान व मन्दिरो के विरोध में सम्पूर्ण बाजार बंद करने का निर्णय लेकर धरने में शामिल होने की बात कही।

मीणा ने कहा कि न्याय तभी मिलेगा जब इस मामले की न्यायिक जांच हो क्योंकि जिस तरह यहां के लोगों का नुकसान किया गया है ।प्राचीन मंदिर तोड़े गए हैं वह पूरी तरह नीति विरुद्ध है। इस मामले की जांच कर दोषियों को सजा दिलाई जाए।

भाजपा का बोर्ड होने के बावजूद भी यहां इसके विरोध को लेकर कहा सरकार व जनता के दबाव में चेयरमैन सहित भाजपा के पार्षद सामने नहीं आ रहे हैं। शुक्रवार को अलवर सांसद महंत बालक नाथ के खिलाफ हुई नारेबाजी के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस मामले में कुछ नहीं कह सकते जनता का आक्रोश है वह किसी के खिलाफ भी आक्रोश व्यक्त कर सकती है।

कांग्रेस द्वारा मंदिर बनाने के निर्णय का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि निर्णय स्वागत योग्य है लेकिन यहां किस तरीके का नुकसान हुआ है कांग्रेस के नेता यहां आकर देखें तो सही।

कांग्रेस के नेताओं को मध्यप्रदेश, दिल्ली उत्तर प्रदेश जाने से फुर्सत नहीं है लेकिन राजस्थान में जो हालात हैं उसको देखने के लिए कोई भी बड़ा कांग्रेसी नेता नहीं आता है। उन्होंने बताया कि इस मामले में पार्टी स्तर पर निर्णय होगा उसका समर्थन किया जाएगा।

उधर, राजगढ़ के उपखंड अधिकारी केशव मीणा एवं नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी बनवारी लाल मीणा के खिलाफ राजगढ़ थाने में महंत प्रकाश दास ने मुकदमा दर्ज कराया है वहीं राजगढ़ प्रशासन के समर्थन में राजगढ़ क्षेत्र के सरपंच धरने देने के लिए पहुंचे। बिघोता सरपंच कमलेश मीना के नेतृत्व में धरना दिया जाएगा।