विपक्ष शासित राज्यों में पेट्रोल डीजल से घटे वैट : जेपी नड्डा

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल के दाम क्रमशः 9.5 रूपए और सात रूपए की कमी किए जाने के फैसले का आज स्वागत किया और विपक्षी दलों के शासन वाले राज्यों में वैट में कमी करने की मांग की ताकि जनता को महंगाई से राहत मिल सके।

नड्डा ने यहां एक बयान में कहा कि गरीबों के कल्याण एवं उनके सशक्तिकरण के लिए कटिबद्ध प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा एक बार पुनः पेट्रोल पर आठ रूपए प्रति लीटर और डीजल पर छह रूपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी घटाने का ऐतिहासिक निर्णय लिया गया है।

साथ ही, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत मिलने वाले गैस सिलिंडर पर भी इस वर्ष 200 रुपये प्रति सिलिंडर के हिसाब से सब्सिडी देना तय हुआ है। इस तरह, गैस सिलिंडर पर सब्सिडी का फायदा देश के लगभग नौ करोड़ परिवारों को मिलेगा।

नड्डा ने कहा कि जन-जन को सहूलियत पहुंचाने का यह ऐतिहासिक निर्णय, एक बार फिर से यह स्पष्ट करता है कि प्रधानमंत्री मोदी और उनके बहुआयामी नेतृत्व में केंद्र की भाजपा सरकार, आम जन के हित में किस तरह संवेदनशील है। इस निर्णय से यह भी सिद्ध होता है कि मोदी सरकार किस तरह प्रो-एक्टिव एवं प्रो-रेस्पोंसिव प्रयासों से उनके जीवन को आसान बनाने के लिए काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी प्रधानमंत्री मोदी की आम जनता को फायदा पहुंचाने और उन्हें राहत दिलाने के लिए लिए गए इस निर्णय का हार्दिक अभिनंदन करती हैं एवं उन्हें साधुवाद देती है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के इस सराहनीय कदम से देश के करोड़ों लोगों को लाभ पहुंचेगा। इससे पहले केंद्र सरकार ने तीन नवंबर 2021 को भी पेट्रोल पर 10 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर पांच रूपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी घटाई थी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने 27 अप्रैल, 2022 को भी देश में कोरोना की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ समीक्षा बैठक में लोगों को राहत देने के लिए मुख्यमंत्रियों से पेट्रोल और डीजल पर राज्य द्वारा लगाए जाने वाले वैट में कटौती करने की अपील की थी।

उन्होंने तुलनात्मक उदाहरण पेश करते हुए बताया था कि राज्यों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बहुत अंतर है, क्योंकि कुछ राज्य केंद्र की तरह अपने हिस्से का टैक्स कम नहीं कर रहे।

उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकारों ने पिछले साल भी प्रधानमंत्री मोदी द्वारा एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद अपने-आने राज्य में पेट्रोल-डीजल पर अपनी ओर से भी भारी राहत दी थी जिसका सीधा लाभ आम नागरिकों को मिला।

हालांकि तब भी कांग्रेस सहित तमाम विपक्ष द्वारा शासित अधिकतर राज्यों में पेट्रोल-डीजल के टैक्स पर कोई कटौती नहीं की गई थी। उन्होंने कहा कि भाजपा मांग करती है कि विपक्ष भी अपने द्वारा शासित राज्य सरकारों में पेट्रोल-डीजल पर टैक्सेज में कटौती करे ताकि इसका लाभ आम जन को मिले तथा उन्हें और राहत मिल सके।

भाजपा की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस कीमतें कम करने पर खुशी जाहिर की है। उन्होंने इसे केंद्र के आठ साल पूरा होने के उपलक्ष्य में मोदी द्वारा दिया गया बड़ा तोहफा बताया है।

धनखड़ ने कहा कि मोदी सरकार हर पल देशहित और जनहित के लिए काम कर रही है। पेट्रोल, डीजल एक्साइज ड्यूटी घटाने और रसोई गैस कीमत में भारी कटौती करने से देश के करोड़ों लोगों को बड़ी राहत मिली है।

पेट्रोल साढ़े 9 रुपए और डीजल 7 रुपए सस्ता, केंद्र ने एक्साइज ड्यूटी घटाई