अर्नब की गिरफ्तारी : उद्धव सरकार पर बरसे सतीश पूनियां

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस, शिवसेना एवं एनसीपी के गठबंधन वाली महाराष्ट्र सरकार ने आज लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ स्वतंत्र पत्रकारिता पर हमला कर आपातकाल की याद दिला दी।

पूनियां ने कहा कि वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर उद्धव सरकार का दमनकारी रवैया जुल्म की इंतिहा है और बर्दाश्त से बाहर है। 21वीं शताब्दी में दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में इस तरह एक पत्रकार की आवाज को दबाया जाना वास्तव में कांग्रेस पार्टी के इन्दिरा गांधी के शासन में लगे आपातकाल की याद दिलाता है। इस तरीके के कृत्य निंदनीय तो हैं ही लेकिन देश एवं दुनिया में हमारी साख पर भी प्रश्नचिन्ह खड़ा करते हैं।

उन्होंने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है और उस लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ निर्भीक एवं निरपेक्ष तरीके से वंशवाद की नीतियों एवं विचारों के खिलाफ अपनी बात को रखता है तो महाराष्ट्र सरकार उसे नाजायज तरीके से दबाने की कोशिश करती है, इस तरीके का दृश्य कतई जायज नहीं कहा जा सकता, मुझे लगता है आज नहीं तो कल प्रकृति, ईश्वर एवं न्यायपालिका भी न्याय जरूर करेगी।

कांग्रेस सिर्फ प्रेस ही नहीं न्यायपालिका को भी नहीं छोड़ती : भाजपा