राहुल और प्रियंका को दलित एवं वंचितों की सुध लेने राजस्थान आना चाहिए : पूनियां

जयपुर। राज्य के भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने प्रदेश की गहलोत सरकार पर दलितों पर अत्याचार बढ़ने का आरोप लगाते हुए कहा है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को दलित एवं वंचितों की सुध लेने राजस्थान आना चाहिए।

डा पूनियां ने पीलीबंगा में दलित युवक की हत्या के मामले में आज अपने बयान में यह बात कही। उन्होंने कहा कि देश और दुनिया में राजस्थान की छवि एक शांतिप्रिय प्रदेश की थी, लेकिन अशोक गहलोत सरकार के शासन में सारे मापदंड तोड़ दिए गए, जिससे राजस्थान सर्वाधिक अपराधग्रस्त राज्यों में शुमार हो गया, यहां बहन-बेटियां दलित-आदिवासी कोई भी सुरक्षित नहीं है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के शासन में हत्या, दुष्कर्म, डकैती, लूट आदि मामलों के छह लाख से अधिक मुकदमे दर्ज हुए हैं। उन्होंने कहा कि अफसोस और दुर्भाग्यपूर्ण है कि दलितों-वंचितों के हितैषी होने का दावा करने वाली गहलोत सरकार के राज में गत वर्ष में 21 प्रतिशत से अधिक दलित अपराधों में बढ़ोतरी हुई है।

डा पूनियां ने कहा कि अब नया मामला पीलीबंगा के प्रेमपुरा का है, जहां एक दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई, उससे रूह कांप जाती है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में दलित अत्याचार का यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले झालावाड़, अलवर सहित कई जिलों में भी दलित युवकों की हत्याओं के मामले सामने आ चुके हैं।

प्रदेश में दलितों के खिलाफ लगातार संगठित अपराध हो रहे हैं, हत्याएं हुई हैं, इससे उन्हें लगता है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के लिए सबक है, जो दूसरे प्रदेशों में राजनीतिक पर्यटन करते हैं, राजस्थान के पीड़ित दलित व वंचितों की सुध लेने भी उन्हें आना चाहिए।