प्रधानमंत्री की मां पर टिप्पणी करने वाले राज बब्बर पर कार्रवाई करें राहुल -भाजपा

भोपाल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राज बब्बर द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वयोवृद्ध मां हीराबेन पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने की आज कड़ी निंदा करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मांग की कि वह श्री बब्बर के विरुद्ध कार्रवाई करें।

bjp said to rahul gandhi that make a legal action to raj babbar
bjp said to rahul gandhi that make a legal action to raj babbar

भाजपा के प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा और जी वी एल नरसिंह राव ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, बब्बर ने प्रधानमंत्री की माता जी के संबंध में अपमानजनक टिप्पणी की है। इसके पहले श्री बब्बर विमुद्रीकरण के समय भी श्री मोदी की मां के विरुद्ध टिप्पणी कर चुके हैं। इसलिए श्री गांधी को उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई करें।

उन्होंने बब्बर द्वारा भाजपा पर राम का कटोरा लेकर वोट मांगने संबंधी बयान को लेकर भी निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस के नेता भगवान राम का अपमान करते हैं और नक्सलियों का गुणगान करते हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस चुनाव हार रही है और हर बार चुनाव हारता देख कर कांग्रेस नेता प्रधानमंत्री पर अपशब्दों के साथ निजी प्रहार करने लगते हैं। कांग्रेस के नेताओं ने उनके लिए नीच, बिच्छू चप्पल आदि बहुत ही आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया है।

डॉ. पात्रा ने कांग्रेस के नेता सी पी जोशी और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बयानों की निंदा की और गांधी से उन्हें पार्टी से तुरंत बर्खास्त करने की मांग की। श्री जोशी द्वारा केन्द्रीय मंत्री उमा भारती के विरुद्ध की गयी जातिवादी टिप्पणी किये जाने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्हाेंने आराेप लगाया कि कांग्रेस ने चुनावों के पहले समाज को धर्म एवं जाति के आधार पर बांटने का काम किया है। कर्नाटक में भी लिंगायत को हिन्दुओं से अलग करने की चाल चली थी। बाद में वे अफसोस कर रहे हैं।

सिद्धू द्वारा गुरु नानक देव के प्रकाशोत्सव के लिए पाकिस्तान की तारीफ किये जाने पर तंज कसते हुए प्रवक्ता ने कहा कि वह सुबह उठकर नियम से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख कमर बाजवा का नाम जपते हैं। वह कहते हैं कि उन्हें दो दिन में पाकिस्तान में इतना प्यार मिला जितना भारत में पूरे जीवन में नहीं मिला। डॉ. पात्रा ने कहा कि श्री सिद्धू को पंजाब सरकार एवं कांग्रेस से तत्काल मुक्त करना चाहिए ताकि वह चाहें तो पाकिस्तान में इमरान खान सरकार में शामिल हो जाएं।