अनंतनाग में भाजपा सरपंच और उनकी पंच पत्नी की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सोमवार अपराह्न आतंकवादियों ने रेडवानी कुलगाम के भारतीय जनता पार्टी के सरपंच और उनकी पंच पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी।

पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार ने बताया कि हमले में लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी शामिल थे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आतंकवादियों का एक समूह अनंतनाग के लाल चौक पर भाजपा सरपंच गुलाम रसूल डार और उनकी पंच पत्नी जवाहरा के घर में घुस गया और उन पर बहुत करीब से स्वचालित हथियार से गोलीबारी की।

रेडवानी कुलगाम में क्रमशः सरपंच और पंच चुने गए डार और उनकी पत्नी को तुरंत अनंतनाग अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। दंपती बिना किसी सुरक्षा के किराये के मकान में रह रहा था।

सूत्रों ने बताया कि हमले के बाद आतंकवादी भागने में सफल रहे, सुरक्षा बलों को इलाके में भेजा गया है और आतंकवादियों को पकड़ने के लिए बड़े पैमाने पर तलाश अभियान शुरू किया गया है।

कुमार ने बताया कि कि हमले में लश्कर के आतंकवादी शामिल थे। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों के सफल अभियानों के कारण आतंकवादी दबाव में आ गए हैं, इसलिए वे अब आसान लक्ष्यों को निशाना बना रहे हैं।

भाजपा गौरतलब है कि भाजपा ने पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 और 35ए के निरस्त होने के दो वर्ष पूरे होने पर अनंतनाग में रैली की थी और राष्ट्रीय ध्वज फहराया था।

भाजपा सरपंच और पत्नी की हत्या की निंदा

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती, भारतीय जनता पार्टी और अपनी पार्टी ने सोमवार अपराह्न जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में भाजपा के सरपंच गुलाम रसूल डार और उनकी पत्नी की हत्या की निंदा की है।

अब्दुल्ला ने कहा कि मैं गुलाम रसूल डार और उनकी पत्नी की हत्या की स्पष्ट रूप से निंदा करता हूं। वे राजनीतिक विद्वेष के कारण मारे गए मुख्यधारा के राजनेताओं की सूची में शामिल हो गए हैं। उनके परिवार और सहयोगियों के प्रति मेरी संवेदनाएं। अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दे।

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने अपने ट्वीट में कहा कि यह सुनकर बेहद दुख हुआ कि आज भाजपा जिलाध्यक्ष और उनकी पत्नी की आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी है। उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं।

भाजपा उपाध्यक्ष सोफी यूसुफ ने एक ट्वीट में कहा कि अनंतनाग में आतंकवादियों द्वारा हमारे सरपंच रसूल डार और उनकी पत्नी जवहीरा की बर्बर हत्या की कड़ी निंदा करता हूं। इन हत्यारों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई करनी होगी।

अपनी पार्टी के महासचिव रफी अहमद मीर ने भी सरपंच और उनकी पत्नी की हत्या की कड़ी निंदा की। यहां जारी एक बयान में, मीर ने इस घटना को बेहद निंदनीय करार दिया और मांग की कि इस जघन्य कृत्य के दोषियों को न्याय के कठघरे में लाया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि अपनी पार्टी इस वीभत्स घटना की कड़ी निंदा करती है जिसके परिणामस्वरूप रेडवानी-कुलगाम के सरपंच गुलाम रसूल डार और उनकी पत्नी की मौत हो गई। इस तरह के हमलों से आम लोगों को और अधिक दुखों के अलावा कुछ हासिल नहीं होगा।

अपनी पार्टी के महासचिव ने कहा कि एक निर्दोष को मारने का कोई औचित्य नहीं है और दुनिया भर में किसी भी सभ्य समाज में हिंसा की अभिव्यक्ति के लिए कोई जगह नहीं है।

शोक संतप्त परिवार के साथ एकजुटता व्यक्त करते हुए मीर ने ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति और उनके परिवार के सदस्यों को इस अपूरणीय क्षति को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की।