कोवैक्सीन पर भ्रम फैलाकर कांग्रेस ने किया ‘महापाप’: संबित पात्रा

नई दिल्ली। कोरोना के टीके ‘कोवैक्सीन’ में गाय के बछड़े का ‘सीरम’ मिलाये जाने के कांग्रेस के आरोप के जवाब में भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि पार्टी ने वैक्सीन के संबंध में भ्रम फैलाकर महापाप किया है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ‘कोवैक्सीन’ में बछड़े का ‘सीरम’ नहीं मिलाया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय और वैज्ञानिकों ने साफ तौर पर कहा है कि कोवैक्सीन में किसी भी प्रकार का गाय या बछड़े का सीरम नहीं मिला हुआ है। वैक्सीन में ‘वेरोसेल’ का इस्तेमाल किया जाता है। यह एक तरह से खाद का काम करता है। यह ‘वेरोसेल’ समय के साथ-साथ खत्म हो जाता है।

पात्रा ने कहा कि यह वैक्सीन पूर्णतः सुरक्षित है और इसमें किसी भी प्रकार का अपभ्रंश नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि ‘कोवैक्सीन’ में गाय के बछड़े का सीरम और खून होता है। जब हमने सोशल मीडिया में इस दुष्प्रचार को देखा तो उसमें यहां तक लिखा था कि गाय और बछड़ों को मारकर ये वैक्सीन तैयार की जा रही है। यह कांग्रेस द्वारा फैलाया जा रहा भ्रम है।

पात्रा ने कहा कि कोवैक्सीन पर कांग्रेस ने कई बार सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी बताएं कि उन्होंने कब वैक्सीन लिया था। गांधी परिवार ‘वैक्सीनेटेड है या नहीं? क्या गांधी परिवार को कोवैक्सीन पर भरोसा है? उन्हें इसका जवाब देना चाहिए। इस वैश्विक महामारी में हमें वैज्ञानिक सोच के साथ आगे बढ़ना चाहिए, न कि भ्रम फैलाना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा और पार्टी के सोशल मीडिया के राष्ट्रीय संयोजक गौरव पांधी ने आरोप लगाया है कि ‘कोवैक्सीन’ में गाय के बछड़े का सीरम होता है और गाय के बछड़े को मारकर ये वैक्सीन तैयार की जाती है। पांधी ने ‘सूचना के अधिकार’ के तहत मिले दस्तावेज के हवाले से यह दावा किया था।