कांग्रेस के खिलाफ चलेगा जनता का महाभियोग : भाजपा

BJP spokesperson Sambit Patra takes a jibe at Congress leader Kapil Sibal

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस सेना, उच्चतम न्यायालय, चुनाव आयोग, ईवीएम, आधार कार्ड, रिजर्व बैंक, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री जैसी किसी भी संवैधानिक संस्थाओं पर भरोसा नहीं करती है और अब जनता उसके खिलाफ महाभियोग लाएगी।

भाजपा ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के विरुद्ध महाभियोग प्रस्ताव संवैधानिक संस्थाओं को बाधित करने के लिए हड़बड़ी में लाया गया प्रस्ताव है जिससे उसका चेहरा बेनकाब हो गया है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को गुस्सा इसलिए आ रहा है क्योंकि उनका परिवारवाद मात खा रहा है। सबसे ज़्यादा अनुसूचित जाति- जनजाति वाले सांसद होने और एक चाय बनाने वाले पिछड़ी जाति के व्यक्ति के प्रधानमंत्री बनने और उसकी वैश्विक नेता के रूप में स्वीकृति मिलने से वह बुरी तरह से बौखलाए हुए हैं।

डॉ. पात्रा ने कहा कि कांग्रेस को लगता था कि सत्ता में विराजना केवल एक परिवार का धर्म है और बाकी सब शासित होने के लिए हैं। लोकतंत्र एवं राजतंत्र की इस लड़ाई में उसका यह स्वप्न एवं महत्वाकांक्षा अब गिर रही है। सत्तर साल के इतिहास में इस परिवार ने देश को अपनी जायदाद के रूप में इस्तेमाल किया। बंटवारा, आपातकाल और सिखों का कत्लेआम इसी का प्रमाण है।

उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस को सेना पर विश्वास नहीं है। वह उच्चतम न्यायालय, इलेक्ट्रिक वोटिंग मशीन (ईवीएम), आधार कार्ड, रिजर्व बैंक, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री जैसी किसी भी संवैधानिक संस्था पर भरोसा नहीं करती है। जब उनके पक्ष में फैसला आता है तो न्यायपालिका अच्छी है, नहीं आता तो उसे सड़क पर घसीटने का काम करते हैं।

चुनाव आयोग को बिका हुआ बताया। आधार को वह ही लायी लेकिन जब 88 हजार करोड़ रुपए की चोरी रुक गयी तो आधार खराब है। रिजर्व बैंक के डाटा पर भरोसा नहीं है। राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री काे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का कार्यकर्ता बता कर अविश्वास जताते हैं।

उन्होंने कहा कि  गांधी को समझना चाहिए कि यह देश उनके परिवार की संपत्ति नहीं है। उन्होंने संविधान के निर्माण के लिए बाबा साहेब डॉ.भीमराव अंबेडकर से पहले कांग्रेस को श्रेय दिया है। इस प्रकार से कांग्रेस ने हम सबके हृदय सम्राट डॉ. अंबेडकर को ‘बैकबेंचर’ (पिछलग्गू) बताने का काम किया है।

उन्होंने गांधी की 15 मिनट बोलने देने की चुनौती की खिल्ली उड़ाते हुए कहा कि जो शख्स बिना मोबाइल फोन देखे 15 लाइन सही से नहीं लिख सकता है वह 15 मिनट बोलने की चुनौती दे रहा है। उन्होंने कहा कि गांधी देश को भ्रमित नहीं करें।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस को देश में समर्पित नौकरशाही और समर्पित न्यायपालिका की आदत रही है और जब उसके हिसाब से अदालतें नहीं चलें तो महाभियोग लाया जाएगा। उन्हाेंने कहा कि यह उच्चतम न्यायालय पर सीधा हमला है और अब वक्त आ गया है कि कांग्रेस की भ्रम फैलाने वाली गरीब विरोधी राजनीति के खिलाफ जनता महाभियोग लाएगी।

षड़यंत्रकारी कांग्रेस संवैधानिक संस्थाओं काे तहस नहस करने पर आमादा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के खिलाफ महाभियोग शुरू हो चुका है और वंशवादी शासन का पतन हो रहा है।

भाजपा प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने कहा कि महाभियोग प्रस्ताव को ठुकराने के उपराष्ट्रपति के फैसले में साफ-साफ लिखा है कि याचिकाकर्ता को खुद ही अपने आरोपों पर विश्वास नहीं है। यह साफ हो गया है कि वह इस संवैधानिक संस्था को बाधित करने के लिए हड़बड़ी में लायी है अौर उसके यह चेहरा बेनकाब हो गया है।