भाजपा ने यूपी में अपना दल, निषाद पार्टी से गठबंधन का किया ऐलान

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सहयोगी दलों ‘अपना दल’ और ‘निषाद पार्टी’ से गठबंधन का औपचारिक ऐलान कर दिया है।

भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में इसपर मुहर लगाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन अपने सहयोगियों, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर राज्य की सभी 403 सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ेगा।

इस घोषणा के समय अपना दल की नेता व केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल और निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद भी जेपी नड्डा के साथ मौजूद थे।

नड्डा ने हालांकि यह नहीं बताया कि कौन सा दल कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगा। उन्होंने कहा कि पिछले दो दिनों में अपना दल और निषाद पार्टी के साथ विस्तार से चर्चा हुई और उसके बाद सीटों के तालमेल पर फैसला हुआ।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की केंद्र सरकार और पांच वर्षों की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व की डबल इंजन की सरकार ने विकास में एक नई छलांग लगाई है और प्रदेश के विकास को तेज गति दी है। उन्होंने दावा किया कि संपर्क, शिक्षा, स्वास्थ्य और निवेश के क्षेत्र में पिछले पांच वर्षों के दौरान उत्तर प्रदेश में बहुत काम हुआ है और कानून व व्यवस्था की स्थिति में उल्लेखनीय सुधार हुआ है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पांच वर्ष पहले पलायन हो रहा था, गुंडागर्दी हो रही थी, अपहरण हो रहे थे, पूर्ववर्ती सरकार के सहयोग से माफिया पनप रहे थे। लेकिन अब सभी अराजक चीजें समाप्त हो गई हैं और राज्य में अब कानून का राज है।

इस मौके पर अनुप्रिया पटेल ने कहा कि 2014 से लेकर अब तक पिछले तीन चुनावों में अपना दल के साथ भाजपा के संयुक्त गठबंधन को जनता ने समर्थन दिया। इस बार भी इस गठबंधन की विजय निश्चित है।

उन्होंने कहा कि विकास और सामाजिक न्याय की चिंतन धारा को मज़बूत करने का कार्य राजग सरकार में हुआ है। पिछड़ों की नुमाइंदगी का दावा करने वाले विपक्षी दलों ने इनके उत्थान के नाम पर सिर्फ राजनीति की है।

वहीं निषाद ने कहा कि पिछडों के साथ विपक्षी दलों ने हमेशा धोखा किया है। राजग में सीट के लिए नहीं बल्कि जीत के लिए चर्चा होती है और इस बार भी यह गठबंधन अभूतपूर्व विजय हासिल करेगा।

इस घोषणा से पहले भाजपा मुख्यालय में राजग नेताओं की एक बैठक हुई, जिसमें नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह तथा केंद्रीय मंत्री व उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रभारी धमेंद्र प्रधान के अलावा अनुप्रिया पटेल और संजय निषाद भी मौजूद थे।