जनता दल(एस)-कांग्रेस गठबंधन के शपथ ग्रहण समारोह का विरोध करेगी बीजेपी

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येद्दियुरप्पा ने घोषणा की कि पार्टी बुधवार को राज्य में ‘जनता के खिलाफ जनादेश’ के रूप में मनाएगी। उन्होंने मंगलवार देर शाम कहा कि हम लोग 23 मई को कांग्रेस-जनता दल(एस)के अपवित्र गठबंधन की निंदा करते हुए इस दिन को जनमत विरोधी दिवस मनाएगे।

उन्होंने कहा कि भाजपा नेता और कार्यकर्ता बेंगलुरू में मौर्या होटल के समीप गांधीजी की मूर्ति के सामने कांग्रेस और जनता दल(एस) गठबंधन की निंदा करते हुए बांह पर काली पट्टी बांधकर विरोध जताएंगे।

भाजपा के ‘ऑपरेशन कमल’ से डरी कांग्रेस

कर्नाटक में कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी के ‘अाॅपरेशन कमल’ के डर से विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के एक सप्ताह बाद भी अपने विधायकों को होटलों में कैद कर रखा है। सूत्राें ने बताया कि कांग्रेस ने अपने नव निर्वाचित विधायकों को इस वजह से होटल में रखा है क्योंकि उसे डर है कि भाजपा विधायकों को प्रलोभन दे सकती है और शपथ ग्रहण समारोह में बाधा डालने की कोशिश कर सकती है।

होटलों में रहे रहे कुछ कांग्रेस विधायकों ने पार्टी नेताओं पर पार्टी द्वारा उन्हें होटलों में रखने के फैसले पर कड़ी आपत्ति जताई और आरोप लगाते हुए कहा कि जद (एस) के साथ गठबंधन में अहम भूमिका निभाने वाले पार्टी नेताओं को उनके निर्देश का पालन करने के बावजूद भी उन पर भरोसा नहीं है। इसलिए उन्हें एक जगह से दूसरी जगह और एक होटल से दूसरे होटल में जाया जा रहा है। एक सप्ताह हो गया है हमलोग परिवार से नहीं मिल पाए हैं तथा क्षेत्र की जनता को धन्यावाद नहीं दे पाए हैं।

सूत्रों ने बताया कि कुछ हताश कांग्रेस विधायकों ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एवं पार्टी नेता सिद्दारामैया तथा पार्टी नेता डीके शिवकुमार के अाज सुबह हाेटल पहुंचे पर अपनी पीड़ा जाहिर की। इसके बाद श्री शिवकुमार ने उन्हें समझाते हुए कहा कि उनकी सुरक्षा और पार्टी एवं राज्य की जनता के हितों के लिए बुधवार शाम साढ़े चार बजे वाले शपथ ग्रहण तक उन्हें होटलों में ही रहना होगा। गौरतलब है कि जनता दल (सेक्युलर) के प्रदेश अध्यक्ष एच डी कुमारस्वामी बुधवार को राज्य के नए मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे।