भाजपा की जन आक्रोश यात्रा 4 से 14 दिसम्बर तक निकलेगी : सतीश पूनियां

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी द्वारा सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस सरकार के खिलाफ जन आक्रोश यात्रा निकाली जाएगी जो करीब 75 हजार किलोमीटर से अधिक का रास्ता तय करेगी।

यह जानकारी आज भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष डा सतीश पूनियां, प्रदेश प्रभारी अरूणसिंह, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में दी। इस अवसर पर जन आक्रोश यात्रा का थीम सांग लॉन्च किया, आमजन के लिए मिस्ड कॉल नम्बर जारी किया, जिस पर लोग मिस्ड कॉल करके कांग्रेस सरकार के खिलाफ जन आक्रोश दर्ज कर सकेंगे। इस अवसर पर उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड, राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धनसिंह राठौड, सांसद किरोडी लाल मीणा, रामचरण बोहरा उपस्थित थे।

पूनियां ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार के शासन में जंगलराज, कुशासन और भ्रष्टाचार के विरूद्ध प्रदेश भाजपा द्वारा सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में निकाली जा रही जन आक्रोश यात्रा के रथों को भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नडडा एक दिसम्बर को जयपुर से रथों को रवाना कर जन आक्रोश यात्रा का आगाज करेंगे।

उन्होंने कहा कि राजस्थान के इतिहास में ऐसी नकारा, निकम्मी और अकर्मण्य, भ्रष्ट और अराजक सरकार ना केवल मैंने, मंच पर बैठे नेताओं ने वरन राजस्थान की जनता ने भी कभी नहीं देखी, उसकी बानगी किसी ना किसी घटना के रूप में प्रतिबिंबित होती है। कैसा अजीब दृश्य होता होगा जब श्वान नवजात के शव को नोंचते होंगे अस्पताल में, क्या विडम्बना होगी दुनिया के सबसे मशहूर पर्यटन स्थलों में से एक जयपुर में जहां विश्व का हर तीसरा पर्यटक घूमने आता है वहां कोई अबला रोटी मांगती हो और उसकी अस्मत लूटनी जाती हो।

पूनियां ने कहा कि कांग्रेस का जनघोषणा पत्र 2018 में जारी होता है, उस जन घोषणापत्र में और जनसभाओं में कांग्रेस के अंतरराष्ट्रीय नेता राहुल गांधी कहते हैं कि 10 तक गिनती गिनूंगा और किसानों का पूरा कर्जा माफ कर दूंगा, विडंबना यह है कि 10 तो छोड़िए 1500 से भी ज्यादा दिन हुए, लेकिन राजस्थान का किसान इंतजार में है, लेकिन 9 हजार से ज्यादा किसानों की जमीन की कुर्की के रूप में और ऐसे दर्जनों किसानों की आत्महत्या के अवसाद के रूप में है।

उन्होंने कहा कि जीरो टॉलरेन्स की बात करने वाली कांग्रेस सरकार की बानगी यह है कि हर 12 किलोमीटर पर कदम रखेंगे तो कोई ना कोई अधिकारी और कोई ना कोई कर्मचारी ट्रेप होता हुआ मिल जाएगा।

पूनियां ने बताया कि एक दिसंबर से 14 दिसंबर तक जन आक्रोश यात्रा चलेगी, 1 दिसंबर को जयपुर से प्रदेशभर के लिए रथों की रवानगी होगी, 2 दिसंबर को जिलों से रवानगी होगी, 3 और 4 दिसंबर को विधानसभा क्षेत्रों में इन रथों के साथ आक्रोश यात्रा की शुरूआत होगी।

उन्होंने बताया कि चार से 14 दिसंबर तक 200 विधानसभा क्षेत्रों में यह रथ गांव-गांव, गली-गली और डगर-डगर जाएंगे, लगभग 20 हजार चौपालें इस दौरान होंगी, नुक्कड़ सभाएं होंगी, दो करोड़ लोगों तक पहुंचने का लक्ष्य है और प्रदेश के 8 करोड़ लोगों तक इस यात्रा का संदेश जाएगा।