मेघालय, त्रिपुरा, नागालैंड में सरकार बनाएगी भाजपा : राजीव प्रताप रूडी

BJP will form government in Meghalaya, Tripura, Nagaland : Rajiv Pratap Rudy
BJP will form government in Meghalaya, Tripura, Nagaland : Rajiv Pratap Rudy

शिलांग। भारतीय जनता पार्टी के नेता राजीव प्रताप रूडी ने सोमवार को विश्वास जताते हुए कहा कि उनकी पार्टी मेघालय, नागालैंड और त्रिपुरा में सरकार बनाएगी। त्रिपुरा में 18 फरवरी को और नागालैंड व मेघालय में 27 फरवरी को चुनाव होने हैं। मतों की गिनती 3 मार्च को होगी।

रूडी ने यहां पत्रकारों से कहा कि भाजपा 2009 में नौ राज्यों में सरकार बनाने के बाद अब खुद के दम या सहयोगी पार्टियों के साथ मिलकर देश के 19 राज्यों में सरकार बना चुकी है। हम इसमें तीन और राज्यों को जोड़ने वाले हैं। मेघालय, त्रिपुरा और नागालैंड। और, इस सूची में जुड़ने वाला चौथा राज्य कर्नाटक होगा।

मेघालय के पूर्वी शिलांग, दक्षिण शिलांग, उत्तर शिलांग ओर प्योनथोरुमखराह में अपनी पार्टी के प्रत्याशियों के पक्ष में समर्थन जुटाने के लिए शिलांग में मौजूद पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मेघालय में मैं बदलाव की नब्ज को पढ़ सकता हूं और ऐसा लगता है कि लोगों ने यहां बदलाव का मन बना लिया है, जिस तरह के बदलाव का पूरा देश गवाह रहा है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास कोई दृष्टिकोण नहीं है, इसने पूरे देश में अपना पकड़ खो दी है और कुछ बचे राज्य में वह संघर्ष कर रही है और उनमें से एक मेघालय है। उन्होंने साथ ही कहा कि भाजपा के पास स्पष्ट घोषणापत्र है और वह है-विकास।

रूडी ने कहा कि हमारे घोषणापत्र में ग्रामीण विकास सम्मिलित है जो कि हमारी प्राथमिकता है। इसके साथ रोजगार, ओद्यौगिकीकरण, युवा सशक्तीकरण, पर्यटन हैं।

मेघालय में खंडित जनाधार मिलने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम खंडित जनादेश में विश्वास नहीं करते हैं। हमारे पास बहुमत होगा। मेरे आत्मविश्वास से चकित मत होइए। मैं पिछले 30 वर्षों से चुनावों को संभाल रहा हूं और हम मेघालय में सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त हैं।

एक्ट ईस्ट पॉलिसी पर रूडी ने कहा कि मेघालय पर यहां के प्रगतिशील समाज, जागरूक एवं जिंदादिल युवा को देखते हुए विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि लेकिन, अफसोस की बात है कि दिल्ली में हमें यहां मिल रहा फीडबैक बता रहा है कि यहां की राज्य सरकार अच्छा काम नहीं कर रही है। यहां केवल केंद्र सरकार ने अच्छा राजमार्ग बनाने का सकारात्मक काम किया है।