लोकतंत्र की जनक्रांति के प्रह्लाद भाजपा कार्यकर्ता हैं : घनश्याम तिवाड़ी

-आपातकाल का स्मृति दिवस काला दिन के रूप में मनाया
-शहर भाजपा ने किया लोकतंत्र सैनानियों का गौरव सम्मान समारोह
अजमेर। राज्यसभा सांसद घनश्याम तिवाड़ी ने कहा है कि हमारी लोकतंत्र की जनक्रांति के प्रह्लाद पार्टी कार्यकर्ता हैं। इन कार्यकर्ताओं की बदौलत कमोबेश पूरे देश से कांग्रेस का सफाया हो गया है। बाकी दो राज्य राजस्थान और छत्तीसगढ़ से भी अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में सफाया हो जाएगा।

तिवाड़ी शनिवार को वैशाली नगर स्थित सत्यम पैलेस में शहर जिला भाजपा की ओर से 25 जून को आपातकाल (काला दिवस) की स्मृति में आयोजित लोकतंत्र गौरव ससैनानी सम्मान समारोह को मुख्य अतिथि के रूप संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को और हम सब को अगले साल कांग्रेस का सफाया ही नहीं करना है, बल्कि उसकी 23वीं भी करनी है, ताकि उसका क्रिया कर्म अच्छी तरह हो जाए। कांग्रेस के सफाए में हम सभी को अच्छी तरह पूर्णाहुति देनी है और इसमें कोई कंजूसी नहीं रखनी है।

तिवाड़ी ने भारत जनतंत्र रहा है और रहेगा। लोकतंत्र रहा है और रहेगा। इसको कांग्रेस से तो क्या दुनिया की कोई भी ताकत मिटा नहीं सकती है।कांग्रेस के पापों का घड़ा भर चुका है। कांग्रेस ने ही नरेंद्र मोदी पर झूठे केस लगाए थे, लेकिन मोदी का दिल देखो, पिछले 20 साल से जहर का घूंट पीकर बैठे हुए थे। उन्हें अब सुप्रीम कोर्ट ने बरी किया है।

तिवाड़ी ने कहा कि कांग्रेस के नेता करोड़ों खा गए। जमीनों के घोटाले किए। अब ईडी जांच कर रही है तो उनको तकलीफ हो रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजस्थान को लावारिस हालत में छोड़कर दिल्ली में पड़े हुए हैं। गहलोत की रुचि बेहतर सरकार चलाने में नहीं, बल्कि खुद की कुर्सी बचाए रखने के अपने आका की पैरवी करने में है। यह राजस्थान का बहुत बड़ा दुर्भाग्य है।

तिवाड़ी ने आपातकाल के दौरान भोगी पीडाओं का जिक्र करते हुए कहा कि प्रचंड बहुमत के कारण इंदिरा गांधी तानाशाह हो गई थीं। लेकिन इसकी विपक्ष सहित हमारी पार्टी के नेताओं ने कोई चिंता नहीं की और हर परिस्थिति का डटकर मुकाबला किया। जनता ने भी उस समय यह नारा दिया था कि ‘सिंहासन खाली करो, जनता आती है।‘ यही नारा अब हमें राजस्थान में भी गुंजायमान करना है।

सांसद भागीरथ चौधरी ने कहा कि सभी कार्यकर्ताओं को पूरी ताकत और एकजुटता के साथ मेहनत करते हुए अगले विधानसभा चुनावों में भारी बहुमत से भाजपा की सरकार बनानी है। उन्होंने कहा कि यदि देश के आजाद होते ही जवाहरलाल नेहरू की जगह सरदार वल्लभ भाई पटेल प्रधानमंत्री होते तो आज देश का नक्शा कुछ अलग ही होता।

अध्यक्षता करते हुए पूर्व शिक्षा मंत्री व अजमेर उत्तर के विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा कि कांग्रेस केवल लोकतंत्र की दुहाई देती है लेकिन उसका लोकतंत्र में कोई विश्वास नहीं है। राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत लगातार मोदी सरकार पर लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं, जबकि असल में लोकतंत्र की हत्यारी तो खुद कांग्रेस है।

उन्होंने कहा कि गहलोत प्रदेश की चिंता करने की बजाय दिल्ली में अपने आका को खुश करने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार के दिन अब लद गए हैं और वह भी उसी तरह अगले साल उड़ जाएगी, जिस तरह किसी समय इंदिरा गांधी की सरकार उड़ी थी।

उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे स्वतंत्रता सैनानियों और आपातकाल में यातनाएं भुगतने वाले गौरव सैनानियों से प्रेरणा लेकर भारत को कांग्रेस मुक्त बनाने के लिए आगे बढ़ें। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता किसी भी स्थिति में घबराने वाला नहीं है। इसलिए वह पूरी ताकत से कांग्रेस का सफाया करने के लिए जुटेगा।

प्रारंभ में शहर जिला भाजपा अध्यक्ष डॉ प्रियशील हाड़ा ने आगन्तुकों का स्वागत किया। संचालन महामंत्री व पार्षद रमेश सोनी ने किया।

इन गौरव सैनानियों को सम्मान

जिन गौरव सैनानियों को सम्मानित किया गया, उनमें किशन गोपाल दरगड़, जितेंद्र, तुलसी सोनी, प्रेमसुख सुराणा, योगेंद्र मिश्रा, घनश्याम व्यास, सत्यनारायण खण्डेलवाल, खेमचंद कनोजिया, ओम नारायण व्यास, अशोक कच्छावा, परमेश्वर वर्मा, सत्यनारायण साहू, सूरज नारायण यादव, प्रेम चंद, प्रह्लाद, हंसराज, गोविंद बाहेती, कन्हैया लाल शर्मा शामिल हैं।

तिवाड़ी का ब्राह्मण समाज ने किया स्वागत

तिवाड़ी का राज्यसभा चुनाव जीतने के बाद पहली बार अजमेर आने पर ब्राह्मण समाज के लोगों ने 5 स्थानों पर भव्य और गर्मजोशी से स्वागत किया। इन स्थानों पर स्वागत द्वार भी लगाए गए। तिवाड़ी ने कार्यक्रम की समाप्ति के बाद परशुराम सर्किल पहुंच कर भगवान परशुराम की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनका आशीर्वाद लिया।

अजमेर भाजपा ने आपातकाल के 48वें वर्ष को काला दिवस के रूप में मनाया